class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टूटे मिथक, खूब दिखी वैरायटी

टूटे मिथक, खूब दिखी वैरायटी

टीआरपी की उठापटक के साथ एक अच्छी बात यह हुई कि टीवी पर विभिन्न शोज में कंटेंट को लेकर जंग-सी छिड़ गयी। इस साल हर चैनल चाहता था कि उसके पास एक ऐसी कहानी हो, जिसे दर्शकों ने पहले कभी न देखा हो। इस फॉमरूले पर कई चैनल काम करते दिखे। अब दर्शकों के सामने सास-बहू के डेली सोप के बजाए फ्रेश शोज थे। कलर्स ने सामाजिक मुद्दों के साथ दर्शकों के सामने ऐसे शोज को पेश किया, जो रूढ़िवादी सोच को बदलने का दमखम रखते थे। बलिका वधू, उतरन, ना आना इस देश लाडो, बिग बॉस-3, खतरों के खिलाड़ी के मिक्स कंटेंट ने इसे बहुत लोकप्रिय बना  दिया। तो उधर, अपने सास-बहू के सीरियल से हट कर इस बार स्टार प्लस ने एक नई कोशिश की और अलग-अलग कॉन्सेप्ट पर बहुत से शो लॉन्च किए। लेकिन इन सबके बीच पांच बड़े हिट शो रहे, जिन्हें दर्शकों ने उनके अलग विषय और ट्रीटमेंट की वजह से पसंद किया।  यह रिश्ता क्या कहलाता है, सजन घर जाना है, बिदाई, सबकी लाडली बेबो और लक्स परफेक्ट ब्राइड जैसे रियलिटी शोज को लोगों ने काफी पसंद किया। बिदाई और सबकी लाडली बेबो, आप की कचहरी सरीखे शोज का कॉन्सेप्ट काफी अलग था। जीटीवी के झांसी की रानी और मैं यहां घर घर खेली ने बहुत ही कम समय में दर्शकों का प्यार हासिल किया। सोनी चैनल के लिए यह साल कुछ खास नहीं रहा, पर कंटेंट के मामले में कॉमेडी सर्कस  3, आहट-4, एंटरटेनमेंट के लिए कुछ भी करेगा और डीपीएल का फॉरमेट लोगों को पसंद आया। इसके अलावा सीआईडी ने भी अपने दर्शक वर्ग में इजाफा किया। पलकों की छांव में, महिमा शनिदेव की, बंदिनी, ज्योति जैसे कई धारावाहिकों को एनडीटीवी इमेजिन ने दर्शकों के सामने रखा। इन सभी शोज में पारिवारिक और सामाजिक स्तर पर होने वाले उतार-चढ़ाव को बहुत ही सहजता से दिखाया गया। यही कारण है कि यह सभी शो लोगों की पसंद बने। कंटेंट के मामले में राखी का स्वयंवर, पति-पत्नी और वो तथा परफेक्ट ब्राइड जैसे शोज ग्लैमरस सितारों की वजह से मीडिया में चर्चा का विषय रहे। सब टीवी ने गनवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, एफआईआर और तारक मेहता का उल्टा चश्मा जैसे शोज से अच्छी विषयवस्तु दिखाई।   

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टूटे मिथक, खूब दिखी वैरायटी