class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंसीलाल ने राठौड़ को बचाया और तरक्की दीः चौटाला

बंसीलाल ने राठौड़ को बचाया और तरक्की दीः चौटाला

रुचिका छेड़छाड़ मामले में पूर्व डीजीपी एस पी एस राठौड़ को बचाने के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए हरियाणा से पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने उस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जबकि दूसरी सरकारों ने उसे प्रोन्नति दी। खासकर कांग्रेस की सरकार को राठौड़ को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने दोषी ठहराया।

चौटाला ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हमने उस अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की। वर्ष 1990 में मेरी सरकार ने उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू की थी। इसके बाद अपने कार्यकाल के दौरान हमने उसे डीजीपी के पद से निलंबित कर दिया, क्योंकि उसके खिलाफ इस मामले में आरोपपत्र पेश किया गया था।

उन्होंने कहा कि राठौड़ को भजन लाल और बंसीलाल की सरकारों के दौरान एडीजीपी और बाद में डीजीपी बनाया गया। उसकी प्रोन्नति के लिए इनको दोष दिया जाना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि रुचिका के पिता एस सी गिरहोत्रा ने गुरुवार को चौटाला पर राठौड़ को बचाने का आरोप लगाया था। राठौर ने 1990 में एक नवोदित टेनिस खिलाड़ी रुचिका के साथ छेड़छाड़ की थी। इस मामले में उसे 19 वर्ष बाद छह महीने के कारावास की सजा सुनाई गई है।

चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने राठौड़ के लिए राष्ट्रपति मेडल की सिफारिश नहीं की थी और उसका नाम नियमित नौकरशाही प्रक्रिया का हिस्सा था।

उन्होंने कहा कि मेडल के लिए नाम सिफारिश करने का मामला मेरे संज्ञान में नहीं आया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंसीलाल ने राठौड़ को बचाया और तरक्की दीः चौटाला