DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक (25 दिसंबर, 2009)

पुलिस का काम आम जनता की सुरक्षा तथा कानून एवं व्यवस्था की स्थिति को बनाये रखना है। इसमें जनता का सहयोग बहुत जरूरी है। लेकिन ऐसा होता बहुत कम है। सड़क पर दुर्घटना होती है। मौके पर लोग तमाशबीन की तरह इकठ्ठे तो हो जाते हैं लेकिन कोई भी गवाही देने के लिए पुलिस के सामने नहीं आता है। 

गवाह के अभाव में ही दुर्घटना करने वाला बरी हो जाता है। लेकिन पीरागढ़ी में गुरुवार की सुबह एक चलती बस में हुई लूटपाट की वारदात के दौरान बस में सवार लोगों ने जिस तरह से हिम्मत दिखाकर एक बदमाश को दबोचा, वह सराहनीय है। इसकी जितनी प्रशंसा की जाए वह कम है। लोगों के इस तरह से आगे आने पर ही हम अपनी दिल्ली को सुरक्षित रख पाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो टूक (25 दिसंबर, 2009)