अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रेन से भिड़ा सिलेंडर भरा ट्रक, विस्फोट

मानव रहित क्रासिंग ढिलावल गुमटी पर गुरुवार सुबह आठ बजे के करीब गैस सिलिंडरों से लदा ट्रक कासगंज से शिकोहाबाद जा रही पैसेंजर ट्रेन से जा भिड़ा। ट्रक में तीन सौ गैस सिलिंडर लदे थे लेकिन भीषण हादसा इसलिए टल गया कि भिड़ंत के बाद ही तीन को छोड़ बाकी सभी सिलिंडर उछलकर यहाँ-वहाँ जा गिरे।

तीन सिलिंडर भागती ट्रेन के आगे 100 मीटर से भी ज्यादा घिसटे ट्रक में दबे रहे। वे जोरदार विस्फोट के साथ फटे, जिससे ट्रक के मलबे के अलावा ट्रेन के इंजन में भी आग लग गई।

हादसे में ट्र्क चालक घायल हो गया है। उसके खिलाफ एफआईआर भी लिखाई गई है। दुर्घटना के बाद प्रशासन ने बड़ी फुर्ती से रेल इंजन की आग बुझाने का इंतजाम किया। पैसेंजर ट्रेन साढ़े चार घंटे बाद साढ़े बारह बजे शिकोहाबाद से मँगाए गए नए इंजन के जरिए रवाना की गई।

पैसेंजर ट्रेन फरुखाबाद से पौने आठ बजे शिकोहाबाद के लिए रवाना हुई थी। लगभग आठ बजे उससे ढिलावल लेविल क्रासिंग पर पटरी पार कर रहा महेन्द्र गैस एजेंसी का ट्रक आ टकराया।

वह गैसिंगपुर गोदाम से तीन सौ सिलिंडर लादकर फरुखाबाद जा रहा था। टक्कर होते ही अधिकतर सिलिंडर उछलकर यहाँ-वहाँ जा गिरे। उधर, ट्रक ट्रेन के आगे-आगे 104 मीटर तक घिसटता चला। इस दौरान ट्रक के मलबे में फँसे तीन सिलिंडर फटे, जिनसे ट्रक के मलबे के साथ ट्रेन के इंजन में आग लग  गई।

ट्रेन के रुकते ही चालक ने दिमागी चुस्ती दिखाते हुए रेलगाड़ी को बैक किया ताकि बड़ा हादसा टाला जा सके। रेलवे कर्मचारियों ने आगे भी चुस्ती-फुर्ती दिखाई और ट्रेन में लगे फायर एक्सिटिंग्विशरों से आग बुझाने में लग गए। तब तक प्रशासन की बुलाई दमकल गाड़ी भी आ गई, जिसने आनन-फानन आग बुझा दी।

हादसे की सूचना पर मौके पर रेलवे अधिकारियों के अलावा पुलिस कप्तान, एडीएम और सिटी मजिस्ट्रेट भी पहुँच गए थे। रेलवे ने घायल ट्रक चालक विनोद, निवासी मैनपुरी के खिलाफ मामला दर्ज किया है। उसे गंभीर हालत में कानपुर ले जाया गया है। यात्रियों ने ट्रेन बैक करने के लिए चालक राम किशन की बहुत तारीफ की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ट्रेन से भिड़ा सिलेंडर भरा ट्रक, विस्फोट