अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीतामढ़ी के जिलाधिकारी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव

विधान परिषद में जदयू सदस्य द्वारा सीतामढ़ी के जिलाधिकारी अंजनी कुमार वर्मा के खिलाफ लाए गए विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव को सभापति ने स्वीकार करके सदन की विशेषाधिकार समिति के सुपुर्द कर दिया।

वैद्यनाथ प्रसाद के अलावा 11 अन्य सदस्यों द्वारा हस्ताक्षरित विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए सभापति ताराकांत झा ने इसे सदन की विशेषाधिकार समिति के सुपुर्द कर दिया।

प्रसाद ने अपने विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव में जिलाधिकारी पर उन्हें अपमानित करने और उनकी मर्यादा को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है।

प्रसाद ने बताया कि पिछले 21 दिसंबर को उन्होंने सीतामढ़ी के जिला पदाधिकारी अंजनी कुमार वर्मा से जब मुख्यमंत्री नगर विकास योजना के जिला संचालन समिति की बैठक में लिए गए निर्णय को बदलकर प्रस्तुत करने के संबंध में पूछा तो जिला पदाधिकारी ने कहा कि जिला पदाधिकारी मैं हूं, मैंने जो किया वह सही है।

इसमें विधान परिषद के सदस्य को हस्तक्षेप करने का अधिकार नहीं है। प्रसाद ने कहा कि समिति के वह सदस्य हैं और बैठक के दौरान भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि जिला पदाधिकारी के इस कत्य से उनका घोर अपमान हुआ और उनकी मर्यादा पर कुठाराघात किया गया जिससे उनका विशेषाधिकार भंग हुआ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिलाधिकारी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव