class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बच्चों ने भी खेला टीआरपी का शानदार खेल

बच्चों ने भी खेला टीआरपी का शानदार खेल

छोटे पर्दे पर हमेशा चलने वाली टीआरपी की दौड़ में हर कोई अपने नंबर बढ़ाना चाहता है। आज कई शो प्रसारित हो रहे हैं, जिन्हे अच्छी खासी टीआरपी मिल रही है। लेकिन इस टीआरपी की दौड़ में अब बच्चे भी पीछे नहीं रहे। 2009 भी इस लिहाज से कुछ खास रहा। आज लगभग हर चैनल पर किसी न किसी बच्चे ने अपना सिक्का जमा रखा है। हैरत की बात है कि बच्चे टीआरपी की कमान इस कदर संभाल रहे हैं कि इन बच्चोंसे शो को काफी मुनाफा हो रहा है और बड़े-बड़े निर्देशक बच्चोंके सहारे अपने शो पर भारी भरकम रकम लगा रहे हैं।

यही नहीं छोटे बच्चों की इस फौज ने सालों से चले आ रहे सास-बहू के ड्रामे का अंत कर टीवी की दुनिया को एक नई दिशा प्रदान की। हाल यह है कि अब सास-बहू और पुरानी घिसी-पिटी कहानियों से बोर हो चुके दर्शक भी बच्चोंसे संबंधित शो पसंद करते हैं। कलर्स पर आने वाला ‘बालिका वधू’ इसका सबसे अच्छा उदाहरण है। बालिका वधू के शुरू होते ही सास-बहू के सीरियल की टीआरपी रेटिंग एकदम नीचे गिर गई और लोगों ने नन्ही सी बालिका वधू यानी अविका गौड़ को खूब सराहा। जहां एक ओर बालिका वधू की पूरी कमान आनंदी और जगदशिया के हाथ में है, वहीं कलर्स पर ही आने वाले धारावाहिक ‘उतरन’ को इच्छा और तपस्या ने 2009 में अच्छी टीआरपी दिलवाई। इच्छा और तपस्या का बचपना दर्शकों को इतना भाने लगा कि उन्होंने अन्य धारावाहिकों को देखना कम कर दिया।

कुछ यही हाल रहा ‘जय श्रीकृष्णा’ में कृष्ण का बालरूप दिखाने वाली तीन साल की धृति भाटिया का। उसने अपनी भोली सूरत और नटखटता से कृष्ण बाललीला को इतनी खूबसूरती से पेश किया कि दर्शक अपने आपको इस सीरियल को देखने से रोक नहीं पाए। सब टीवी पर आने वाला ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ में टप्पू और उसके दोस्तों की शरारतें दर्शकों को खूब भाईं और टप्पू ने इस धारावाहिक की टीआरपी को आगे बढ़ाया। वहीं जीटीवी पर आने वाले सीरियल ‘झांसी की रानी’ में अल्का गुप्ता और ‘आपकी अंतरा’ में अंतरा बनी जायना ने भी अपनी एक्टिंग के बल पर पूरे शो की टीआरपी रेटिंग को ऊपर रखा।

सिर्फ धारावाहिको में ही नहीं, बल्कि ‘छोटे मियां’ की विनर रह चुकी गंगूबाई यानी सलोनी इन दिनों सोनी पर आने वाले लॉफ्टर शो में बड़ों-बड़ों को मात दे रही है। कुछ यही कमाल दिखाया एनडीटीवी इमेजिन पर आने वाले रियलटी शो ‘पति-पत्नी और वो’ के नन्हे मुन्ने बच्चोंने, जिनकी मासूमियत और भोलेपन ने दर्शकों के दिल में जगह बनाई और इस शो को अच्छी टीआरपी दिलाई। इसी तरह एंकरिंग के मामले में भी यह बच्चे बड़े-बड़े सिलेब्रिटीज को पछाड़ रहे हैं।

जीटीवी पर लिटिल चैम्प जैसे बड़े शो के निर्देशकों ने इस शो की होस्टिंग का जिम्मा अफसां और धैर्य को दिया, जिसे इन दोनों ने बहुत ही खूबी से निभाया। जहां एक ओर लिटिल चैंप में अफसां और धैर्य की नोक-झोंक दर्शको को पसंद आती थी, वहीं इसी शो में भाग लेने वाले बच्चोंने सात सुरों की ताकत से इस शो की टीआरपी को सातवें आसमान पर पहुंचा दिया। अफसां और धैर्य की एंकरिंग अन्य निर्देशकों को बहुत पसंद आई। स्टार अवॉर्ड में भी ये दोनों बच्चे अपने नटखट सवालों से सिलेब्रिटी को परेशान करते नजर आ रहे थे। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि इस बार टीआरपी की इस दौड़ में इस साल बच्चोंने बाजी मारी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बच्चों ने भी खेला टीआरपी का शानदार खेल