class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2010 में गैजेट्स की दुनिया कुछ और खिलेगी

2010 में गैजेट्स की दुनिया कुछ और खिलेगी

गैजेट्स के बिना आधुनिक दुनिया की कल्पना करना भी नामुमकिन है। फिर गैजेट्स ऐसे हों जिनके बिना आज की इस भागदौड़ भरी जिन्दगी में कुछ राहत मिले तो कहने ही क्या। गैजेट फिर मोबाइल हो या लैपटॉप या आईपॉड, एलसीडी, एमपी3 प्लेयर या कूल कैमरा गैजेट या इन गैजेट के लिए कोई बेहतरीन सॉफ्टवेयर। हर साल की तरह इस साल भी कई बेहतरीन गैजेट्स बाजार में आए, जिनमें से किसी ने हमारी जिन्दगी को आसान बनाया तो किसी को इस्तेमाल करने के लिए हम बेताब हो उठे।

गैजेट्स हमारी जिन्दगी में जिस तरह से दिनोंदिन दखल बढ़ाते जा रहे हैं, वैसे वैसे हमारी उन पर निर्भरता भी बढ़ती जा रही है। खासकर आज के युवाओं की गैजेट्स की दीवानगी ऐसी है कि कोई भी नया गैजेट्स बाजार में आते ही उन्हें जैसे उसे खरीदना ही होता है। 2010 में कई ऐसे खास गैजेट्स हैं जिनका गैजेट्स के दीवानों को बेसब्री से इंतजार रहेगा।

मोबाइल पोर्टेब्लिटी (आजादी चुनने की)
जी हां मोबाइल पोर्टेब्लिटी की एक बार चालू हो जाने के बाद आपके पास चुनने की असली आजादी होगी। आप अपने पुराने मोबाइल नंबर पर किसी भी दूसरे मोबाइल ऑपरेटर की सेवाएं ले सकेंगे। सरकार ने इसे जल्दी शुरू करने को कहा है, लेकिन साल के मध्य तक इसके पूरी तरह से चालू हो जाने की उम्मीद है। हालांकि यह कोई गैजेट तो नहीं है, लेकिन हमारे मोबाइल गैजेट के लिए एक आजादी तो है ही।

गूगल क्रोम
गूगल ने 2009 में ऑपरेटिंग सिस्टम के सिरमौर विंडोज को चुनौती देकर अपने क्रोम ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा की। 2010 में गूगल और गैजेट्स के दीवानों को क्रोम ऑपरेटिंग सिस्टम का बेसब्री से इंतजार रहेगा। यह ऑपरेटिंग सिस्टम इंटरनेट पर काम करने वाले लोगों के लिए खास होगा। गूगल के इस ऑपरेटिंग सिस्टम के 2010 के मध्य तक बाजार में आने की उम्मीद है।

फोर्ड की मैके कार
अगर आपके बच्चे आपकी कार को अक्सर बाहर लेकर जाते हैं और आप इस फिक्र में कि न जाने उनके साथ क्या होगा, सही से सो भी नहीं पाते तो फोर्ड 2010 में आपकी नींद सुनिश्चित करने वाली है। जी हां फोर्ड इस साल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक ऐसी कार ला रही है जिसमें एक चिप लगी होगी जिससे इसकी स्पीड 80 मील प्रति घंटा की रफ्तार से ज्यादा नहीं हो सकती है। इसके अलावा कार के ऑडियो लेवल को भी इस चिप की मदद से बिल्कुल सही रखा जा सकता है। यही नहीं अगर ड्राइवर ने सीट बेल्ट न पहनी हो तो यह उसे तेज व स्पष्ट आवाज में ऐसा करने के लिए भी कहेगी।


डुअल टच स्क्रीन लैपटॉप
जी हां बात अब डुअल सिम और टच स्क्रीन मोबाइल से आग बढ़ चुकी है, टच स्क्रीन लैपटॉप भी पुरानी बात हो गए हैं। 2010 में लैपटॉप कुछ और लक्जुरियस व स्टाइलिश होने जा रहा है। आने वाले साल में डुअल टच स्क्रीन लैपटॉप अंतरराष्ट्रीय बाजार में आने को तैयार हैं। भारत आज अंतरराष्ट्रीय बाजार से दूर नहीं है, इसलिए जल्द ही यह भारत में भी देखने को मिल सकते हैं। इटली की कंपनी वी12 2010 में नया कैनोवा डुअल एलसीडी डुअल टच स्क्रीन लॉन्च करने जा रही है।

3जी
देश में 3जी स्पैक्ट्रम की नीलामी का मामला सुलझते ही 2010 में देश के अग्रणी मोबाइल आपरेटर कंपनियां 3जी सेवाएं मुहैया कराएंगी। 2010 में आप कभी भी कहीं भी इंटरनेट से जुड़ सकेंगे, गाड़ी में बैठे-बैठे 3जी पर रास्ते ढूंढकर उन रास्तों पर चल सकेंगे। वीडियो कॉल कर आप दूर रह रहे अपने परिजनों के कुछ और करीब होने के एहसास से सराबोर होंगे।

4जी
एक बार 3जी सेवाएं प्राइवेट मोबाइल ऑपरेटर कंपनियों को मिल जाएंगी तो जल्द ही 4जी का हल्ला होने की उम्मीद है। सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री सचिन पायलट राजस्थान में वाइमैक्स की शुरुआत करके 4जी की नीव पहले ही रख चुके हैं। जहां 3जी में आप अधिकतम 384 केबीपीएस की स्पीड से इंटरनेट पा सकते हैं वहीं 4जी 3एमबीपीएस की स्पीड का वादा कर रही है।


2009 के गैजेट्स


मोबाइल
गैजेट्स में मोबाइल एक ऐसा गैजेट है जो हमारी जिन्दगी के सबसे करीब है और यह हमारी जिन्दगी पर सबसे ज्यादा असर भी डालता है। मोबाइल में रोज कोई न कोई ऐसा फीचर आ ही जाता है जिसे देख-सुन कर लगता है यशश्श्श्श्श! इसी फीचर का तो मुझे इंतजार था। वैसे इस पूरे साल 3जी का हल्ला रहा और मोबाइल कंपनियों ने इस हल्ले से पैसा बनाने का रास्ता खूब ढूंढ निकाला। इस साल लगभग हर कंपनी ने कई ऐसे मोबाइल लॉन्च किए और उनका हल्ला भी पूरे साल रहा। नोकिया ने एन-97, एन-97मिनी, ई72 बिजनेस फोन सभी 3जी फोन। सैमसंग के कोर्बी फोन भी इस साल खूब चर्चा में रहे। सैमसंग का कोर्बी मेट व कोर्बी प्लस दोनों साइड से स्लाइडर फोन हैं और इनका क्वैरटी की बोर्ड टाइपिंग के लिए आसान है। यह दोनों फोन आज के सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर दोस्तों से जुड़े रहने के लिए खास तौर पर बने हैं। सैमसंग ने 3जी फोन की बढ़ती मांग को देखते हुए स्टार 3जी रेंज लॉन्च की। सैमसंग ने भारतीय बाजार में पकड़ मजबूत बनाने के लिए बेहद सस्ता सोलर चार्जिग मोबाइल लॉन्च किया। फोन के पीछे सोलर पैनल लगा है जिसे धूप की तरफ करके आसानी से चार्ज किया जा सकता है। सोलर क्रेस्ट और सोलर गुरु इस श्रेणी के मोबाइल हैं।

सोनी एरिक्सन का 3जी फोन साटियो भी इस साल सुर्खियों में बना रहा। कर्व श्रेणी में ब्लैकबेरी के कर्व 8520 व ब्लैकबेरी 8900 कर्व ने भी इस साल इस श्रेणी के फोन का इंतजार खत्म कराया। एलजी ने टचस्क्रीन कूकी और 8 मेगा पिक्सल्स कैमरा युक्त व्यूटी स्मार्ट फोन लॉन्च किए। एचटीसी ने टैटू व एचडी2 नाम से दो 3जी फोन बाजार में पेश किए। माइक्रोमैक्स ने भी बाजार में एट्री मारते हुए एमटीएनएल के साथ 3जी फोन के लिए समझौता किया। एमटीएनएल व माइक्रोमैक्स ने मिलकर एच 360 पेश किया तो माइक्रोमैक्स ने डुअल सिम ग्रैविटी फोन भी लॉन्च किया।

विंडोज-7
विंडोज विस्टा के फेल हो जाने के बाद विंडोज को जरूरत थी बाजार में एक ऐसी विंडो लाने की जो विस्टा से हुए नुकसान की भरपाई कर सके। इसी मकसद से विंडोज ने बहुप्रतीक्षित विंडोज-7 को बाजार में उतारा। विंडोज दावा कर रही है कि जो कमियां विस्टा में छूट गई थी या जो उम्मीदें विस्टा पूरी नहीं कर पाया था, उन पर विंडोज-7 पूरी तरह खरा उतरेगी। हालांकि अभी इसे बाजार में आए ज्यादा दिन नहीं हुए हैं इसलिए इसकी परफार्मेस के बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहा जा सकता।

गूगल क्रोम
गूगल ने ऑपरेटिंग सिस्टम के सिरमौर विंडोज को चुनौती देते हुए इस साल अपने क्रोम ऑपरेटिंग सिस्टम की घोषणा की। गूगल के अनुसार यह पारंपरिक विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम से बिल्कुल अलग और काफी तेज होगा। यह ऑपरेटिंग सिस्टम इंटरनेट पर काम करने वाले लोगों के लिए खास होगा। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को खोलने लिए विंडोज की तरह इंतजार नहीं करना पड़ेगा और लिनक्स पर आधारित इस ऑपरेटिंग सिस्टम का 2010 में गैजेट्स के दीवानों को बेसब्री से इंतजार रहेगा।

यूएसबी इंटरनेट मॉडम
इंटरनेट के बिना तो जैसे आज के युवाओं का काम ही नहीं चलता। उन्हें अपने मोबाइल पर भी इंटरनेट चाहिए और कंप्यूटर पर भी। एक बार इंटरनेट से कनेक्ट हो जाएं तो फिर देखिए सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कैसे उनके दोस्तों की महफिल जमती है। मोबाइल पर इंटरनेट अभी भी स्पीड में कुछ कम और पेचीदा है। कभी भी कहीं भी इंटरनेट से कनेक्ट रहने के लिए इस साल टाटा और रिलायंस ने यूएसबी ब्रॉडबैंड इंटरनेट पेश किए। इन यूएसबी से आप हाइवे पर गाड़ी में, घर में, दफ्तर में कहीं भी कंप्यूटर या लैपटॉप पर दुनिया से जुड़े रह सकते हैं। दोनों कंपनियों ने टाटा फोटोन प्लस और रिलायंस नेटकनेक्ट ब्रॉडबैंड प्लस नाम से शुरू की इन सेवाओं को प्रीपेड में भी इस साल उपलब्ध करा दिया।

टीवी व प्लाज्मा
टीवी व प्लाज्मा की बात की जाए तो यह साल हाई डेफिनेशन टीवी के नाम रहा, लगभग हर कंपनी ने एचडीटीवी पेश किए। इस साल पैनासोनिक ने रणबीर कपूर को अपना ब्रांड अंबेस्डर बनाया और बाजार में वीयेरा नाम से प्लाज्मा टीवी लॉन्च किये। सैमसंग ने लाइफ इन हाइपर रीयल एड के साथ लेड टीवी बाजार में उतारे। एलजी ने भी फुल एचडी और लेड टीवी की सीरीज इस साल पेश की।

डिजिटल कैमरा
डिजिटल कैमरा की बात की जाए तो, इस क्षेत्र की जानी मानी कंपनी फूजी फिल्म्स ने इस साल कई नए कैमरे लॉन्च किए। कंपनी ने 12एक्स जूम और 10 मेगापिक्सल्स फाइनपिक्स एस1500 और 12 मेगापिक्सल्स व 5 एक्स वाइड एंगल ऑप्टिकल जूम युक्त फाइनपिक्स एफ200ईएक्सआर कैमरे बाजार में उतारे हैं। कैनन ने भी 23 नए स्मार्ट कैमरा और कैमकॉडर लॉन्च किए। कैमरों के लिए जाना माना नाम निकोन ने दो डी-एसएलआर कैमरा डी3000 और डी300एस लॉन्च किए हैं। कोडेक ने 12 मेगापिक्सल्स, 5 एक्स जूम वाला इजीशेयर एम381 डिजिटल कैमरा पेश किया। सोनी ने साइबर शॉट डब्ल्यू सीरीज में डीएससी-डब्ल्यू180, 17 एक्स जूम के साथ 10.1 मेगापिक्सल्स और 18 एक्स जूम के साथ 12.1 मेगापिक्सल्स डीएससी-डब्ल्यू190 बेहतरीन उत्पाद पेश किए।

लैपटॉप
लैपटॉप नोटबुक की बात करें तो एचपी कॉम्पेक ने दो मिनी लैपटॉप पेश किए हैं। एटम प्रोसेसर से लैस यह लैपटाप 1जीबी डीडीआर रैम और 160 जीबी हार्डडिस्क के साथ आते हैं। एचपी मिनी नाम से ये लैपटॉप हैं मिनी 110 प्रोबुक और कॉम्पेक 610। एचसीएल ने मी नाम से लैपटॉप सीरीज पेश की। सोनी ने अपनी वायो सीरीज को आगे बढ़ाते हुए वायो एनडब्ल्यू लॉन्च किया है। कोर टू डुओ प्रोसेसर से लैस इन लैपटॉप में 2जीबी डीडीआर रैम और 160 जी हार्डडिस्क है। लेनोवो ने आईडिया सेंटर ए 600 ऑल इन वन डेस्कटॉप और सुपर स्लिम लेनोवो आईडियापैड वाई 650 नोटबुक इस साल बाजार में उतारे। डेल इंडिया ने अलायनवेयर एम 17 एक्स नोटबुक भारतीय बाजार में उतारी। कोर टू क्वाड एक्सट्रीम प्रोसेसर युक्त यह लैपटॉप करीब 1 लाख 40 हजार का है। डेल के अन्य मॉडलों की तरह इसे भी आप अपनी मर्जी के अनुसार मोडिफाई करवा सकते हैं। फेस्टिव सीजन को देखते हुए अन्य कंपनियां भी जल्द ही कुछ नए उत्पाद पेश करेंगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2010 में गैजेट्स की दुनिया कुछ और खिलेगी