class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधानसभा में गुरुवार को होगी चर्चा

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले की 61 ग्राम पंचायतों को उत्तराखंड में शामिल करने का प्रस्ताव नेता प्रतिपक्ष डॉ. हरक सिंह रावत ने विधानसभा में पेश कर दिया। नियम 105 के अन्तर्गत रखे गए प्रस्ताव पर गुरुवार (आज) को चर्चा होगी।

इस प्रस्ताव को पेश करने की जानकारी जैसे ही बिजनौर क्षेत्र के गांवों को मिली वे खुशी से झूम उठे।
बिजनौर जिले के यह गांव लंबे समय से उत्तराखंड में शामिल किए जाने की मांग को लेकर आंदोलन करते रहे हैं। 

पिछले दिनों इन क्षेत्रों के दौरे पर गए नेता प्रतिपक्ष हरक सिंह रावत ने एक पंचायत में बिजनौर जिले की 61 ग्राम पंचायतों को उत्तराखंड में शामिल करने की मुहिम का समर्थन किया था। कोटद्वार भाबर क्षेत्र के मोटाढाक और तल्ला मोटाढाक क्षेत्र के इन गांवों को एक सड़क यूपी और उत्तराखंड में विभाजित करती है।

यूपी के इन गांवों को बिजली, पानी की आपूर्ति उत्तराखंड से ही की जा रही है। उत्तराखंड की सीमा से लगे गुलालवाली, सम्मीपुर नहर से उत्तरी क्षेत्र ढकिया बावन सराय, बडापुर, कादराबाद, रेहड़ की 61 ग्राम पंचायतों के 202 गांवों की करीब70-75 हजार की आबादी लंबे समय से उत्तराखंड में शामिल होने को आंदोलनरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधानसभा में गुरुवार को होगी चर्चा