class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अतीक की डायरी में दर्ज, मुख्तार भाई कौन है!

कानपुर के डी-2 गैंग सरगना अतीक अहमद की डायरी में दर्ज ‘मुख्तार भाई’ के नाम ने यूपी पुलिस और एसटीएफ को चौकन्ना कर दिया है। तैयारी इस बात की है कि अब अतीक को नए सिरे से रिमांड पर लेकर उससे इस बारे में पूछताछ की जाए। लखनऊ में मौलवीगंज के चिकमंडी इलाके में उसके काफी रिश्ते मिले हैं। एसटीएफ अब संदिग्ध लोगों के इर्द-गिर्द शिकंजा कस रही है।

एसटीएफ सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पूवरेत्तर रेलवे के गेस्टहाउस में अतीक के पास से मिली डायरी से अहम जानकारियाँ मिली हैंे। इसमें सिद्धार्थनगर और पूर्वाचल के कई जिलों से जुड़े लोगों के नामों के अलावा एक जगह मुख्तार भाई व एक मोबाइल नम्बर भी दर्ज मिला है।

अब एसटीएफ यह पता करने की कोशिश कर रही है कि यह मुख्तार भाई कौन हैं। इस बात की आशंका जतायी जा रही है कि कहीं यह नाम माफिया मुख्तार अंसारी का तो नहीं है। हालाँकि अभी तक इस बात के कोई सुबूत नहीं मिले हैं।

एसटीएफ के एक अधिकारी के मुताबिक अभी एजेंसी इस कोशिश में है कि रेलवे पुलिस अतीक को जल्द से जल्द रिमांड पर ले ताकि सीधे उससे पूछताछ की जा सके। मोबाइल सीडीआर में करीब ढाई सौ संदिग्ध नम्बर हैं। इनमें से कई नाम डायरी में भी हैं।

नेपाल सीमा से जुड़े कुछ तस्करों और बाराबंकी व लखनऊ मे तैनात कुछ पुलिसकर्मियों व एक जेलर का नम्बर भी अतीक की डायरी में मिला है। एसटीएफ उन लोगों का भी पता कर रही है जिन्हें अतीक ने स्थानीय लोगों की मदद से धमकाकर वसूली की।

मौलवीगंज के चिकमंडी इलाके पर पुलिस की कड़ी नजर है। यहाँ के कई लोग अतीक के सम्पर्क सूत्र बताए जा रहे हैं। एडीजी कानून व्यवस्था प्रथम बृजलाल से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि विवेचना चल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अतीक की डायरी में दर्ज, मुख्तार भाई कौन है!