DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगी होगी रेल यात्रा पर माननीयों की मौज

महंगी होगी रेल यात्रा पर माननीयों की मौज

सरकार ने पांच वर्ष के अंतराल के बाद पहली बार रेल यात्री किरायों में वृद्धि होने के साफ संकेत दिए हैं। भाड़े में वृद्धि का मुख्य निशाना उच्च श्रेणियां और प्रीमियम श्रेणी की गाड़ियों को बनाए जाने की संभावना है। रेल मंत्री ममता बनर्जी द्वारा संसद में प्रस्तुत किए गए श्वेत पत्र ‘विजन 2020’ में इस बात का साफ-साफ इशारा किया गया है।

ममता बनर्जी ने कहा है कि रेलवे को बीते पांच वषरे में यात्राी भाड़े से हुई आय यात्राी गाड़ियों की परिचालन लागत से 38 से 40 फीसदी तक कम रही है। वर्ष 2008-09 में यात्री सेवाओं में 14 हजार करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। रेलवे के विजन 2020 दस्तावेज में कहा गया है कि रेलवे इस समय 21 श्रेणियों की शायिकाएं तथा नौ किस्म की गाड़ियां यात्रियों को उपलब्ध करा रहा है जिनके लिए अलग-अलग भाड़े रखे गए हैं।

द्वितीय श्रेणी के यात्रियों को वहनीय लागत पर सुविधा देना एक बड़ी चुनौती है जबकि प्रत्येक यात्री कि.मी. पर 18 पैसे की हानि हो रही है। रेल यात्री भाड़ों में वृद्धि के संकेत देते हुए कहा गया है कि इस मुद्दे के हल के लिए लागत, कुशलता तथा सब्सिडी को केवल जरूरतमंद वर्गो तक सीमित रखने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए दीर्घकालिक सोच रखनी होगी। 

माननीयों की मौज : संसद ने मंत्रियों के हवाई यात्रा किराये संबंधी प्रावधान वाले बिल को मंजूरी दे दी। इसमें मंत्री, उनकी पत्नी और आश्रितों को साल में एक बार भारत के भीतर हवाई यात्रा के किराये की राशि उसी प्रकार भुगतान की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:महंगी होगी रेल यात्रा पर माननीयों की मौज