class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अतीक को ऐश कराने वाले तीन सिपाही जेल गए

रेलवे के एयरकंडीशंड गेस्ट हाउस में डी-2 गैंग के सरगना अतीक अहमद को ऐश कराने वाले दरोगा और तीन सिपाही अब जेल में भी उसके साथ ही रात बिताएँगे। मंगलवार को अतीक समेत पाँच अन्य लोगों के साथ उन्हें जेल भेज दिया गया।

इस मामले में एसटीएफ गेस्टहाउस दिलाने में मदद करने वाले रेलवेकर्मियों को भी 120 बी का अभियुक्त बनाने जा रही है। एडीजी कानून व्यवस्था प्रथम और एसटीएफ के प्रभारी बृजलाल ने बताया कि आईजी जेल को पत्र लिखा गया है कि वह सभी जेल अफसरों को निर्देश दें कि जेल से पेशी पर आने वाले हर आरोपित को या तो जेल में रखा जाए या फिर थाने के हवालात में।

पूर्वोत्तर रेलवे के वातानुकूलित विश्रमालय इन्द्रधनुष में अपराधियों को ऐश कराना पुलिस वालों पर भारी पड़ा है। उन्होंने बताया कि इस मामले में अतीक के अलावा अमीनाबाद के मो.तारिक पुत्र स्व.अब्दुल सलाम, चिकमंडी निवासी मोइन कुरैशी पुत्र मुबीन, बजरिया कानपुर के जावेद हुसैन फारुखी पुत्र रियासत हुसैन और मौलवीगंज लखनऊ के बरकत पुत्र मो.नसीम को जेल भेज दिया गया है।

इनके अलावा सिद्धार्थनगर पुलिस लाइन के दरोगा अशरफुल ऐन सिद्दीकी, कांस्टेबिल जयमंगल प्रसाद, जगदीश कुमार और रमापति यादव को भी जेल भेजा गया है। एडीजी ने कहा कि पंद्रह साल की नौकरी कर चुके एक दरोगा का अपराधी के साथ गेस्ट हाउस के एक ही कमरे में ऐश करना वाकई शर्मनाक है। यह दरोगा पहले ज्यादातर नेपाल सीमा से सटे थानों में तैनात रहा है और संदिग्ध चरित्र का बताया जाता है।

एसटीएफ को अतीक के पास से एक डायरी भी मिली है जिसमें रेलवे के किसी अवस्थी नाम के कर्मचारी का जिक्र है। एडीजी ने बताया कि पुलिस मौके से बरामद किए गए पाँच मोबाइल फोन का सीडीआर निकलवाकर उन लोगों से भी पूछताछ करेगी जिनसे इन नम्बरों से बातचीत होती थी।

अतीक अहमद के बारे में शिकायत मिली थी कि वह पेशी के बहाने लखनऊ आकर लोगों को धमकाता है और वसूली करता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अतीक को ऐश कराने वाले तीन सिपाही जेल गए