अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब कमाने जा रहे दो युवकों की हत्या

मऊ जिले के रानीपुर थाना क्षेत्र के काझा घोड़ाडीह के पास मंगलवार की सुबह फत्तेपुर-काझा मार्ग पर दो युवकों के गोली मारकर हत्या करने के बाद फेंके गये शव पाये जाने से हड़कंप मच गया। एक मृतक के पास मिले मोबाइल से दोनों की शिनाख्त हुई।

दोनों युवक आजमगढ़ जिले के जहानागंज क्षेत्र के रहने वाले थे और कमाने के लिए पंजाब जाने को सोमवार को घर से रवाना हुए थे। एसपी और एएसपी ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की तथा शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया। पुलिस इस दोहरी हत्या का कोई कारण नहीं बता सकी। 

काझा घोड़ाडीह गांव के लोग मंगलवार की सुबह शौच के लिए गये तो गांव के बाहर सड़क के किनारे दो युवकों का खून से लथपथ शव देखा। यह खबर फैलते ही वहां बड़ी संख्या में लोग जुट गये और रानीपुर तथा चिरैयाकोट के थानाप्रभारी सुहेल अख्तर सिद्दीकी व नन्हे राम सरोज भी फोर्स के साथ पहुंच गए।

दोनों युवकों के सिर और सीने में दो-दो गोलियां मारी गयी थीं। पुलिस ने तलाशी ली तो एक युवक के पास मोबाइल मिला और उससे दोनों मृतकों की पहचान हुई। मारे गए युवकों की शिनाख्त बबलू उर्फ बलवंत (26) पुत्र शिव नारायण यादव निवासी पारूपुर शेरपुर कुटी और उमेश (25) पुत्र बलजीत राम निवासी जगदीशपुर थाना जहानागंज जिला आजमगढ़ के रूप में हुई।

चिरैयाकोट पुलिस ने दोनों के घर जाकर उनके परिजनों को हादसे की जानकारी दी। रोते-बिलखते मौके पर पहुंचे परिजनों के अनुसार उमेश सोमवार की सुबह बबलू के घर आया और दोनों साथ ही कमाने के लिए पंजाब जाने को निकले थे। दोनों के परिजनों ने किसी से दुश्मनी होने की बात से भी इनकार किया।

जहानागंज के एसओ विजय शंकर यादव का कहना है कि दोनों युवकों के खिलाफ कोई आपराधिक रिपोर्ट नहीं दर्ज है। जानकारी होते ही पुलिस अधीक्षक वीर बहादुर सिंह और अपर पुलिस अधीक्षक दिवाकर कुमार भी पहुंचे तथा पूछताछ की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब कमाने जा रहे दो युवकों की हत्या