class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजनौर, चांदपुर मिल भी देंगी 210-215 का रेट

बिजनौर और चांदपुर में स्थित उप्र राज्य चीनी निगम की शुगर मिलें भी निजी चीनी मिलों के बराबर गन्ना मूल्य देंगी। इन मिलों ने मंगलवार से गन्ना पर्चियों पर 210-215 रुपए प्रति क्विंटल का रेट डालना शुरू कर दिया है। इसके बाद गन्ना मूल्य की मांग को लेकर बिजनौर मिल पर चल रहा रालोद-भाकियू का धरना समाप्त हो गया।

जनपद में नौ शुगर मिलें स्थित हैं। इनमें छह मिलें निजी क्षेत्र की, एक सहकारी तथा दो निगम की हैं। सभी निजी चीनी मिलें 210-215 रुपए प्रति क्विंटल का गन्ना मूल्य दे रहीं थीं, सहकारी मिलें भी इनकी राह पर थी जबकि निगम की चीनी मिलें पुराने रेट पर चल रही थीं। इसे लेकर राष्ट्रीय लोकदल व भाकियू ने शुगर मिल पर दो दिन पहले धरना शुरू कर दिया था।

सोमवार को मिल को गन्ने की आपूर्ति ठप कर दी गई थी। मंगलवार को एसडीएम सदर एसबी सिंह तथा मिल के महाप्रबंधक इसरार अहमद की मौजूदगी में किसानों से वार्ता हुई। वार्ता में मिल प्रशासन 22 दिसंबर से ही निजी मिलों के बराबर गन्ना मूल्य पर्चियों पर डालने को राजी हो गया। इस पर किसानों ने धरना समाप्त करने की घोषणा कर दी।

वार्ता में रालोद जिलाध्यक्ष राहुल सिंह, पूर्व मंत्री स्वामी ओमवेश, पूर्व विधायक सुखबीर सिंह, आशु राणा, पूर्व सांसद मुंशीराम पाल, सुनील तोमर, डॉ. भंवर सिंह, संजीव चौधरी, शौ सिंह, सुम्मेर सिंह, भाकियू के प्रांतीय उपाध्यक्ष रामकुमार धनकड़, ओमपाल सिंह, धूम सिंह, लाखन सिंह, नरबेल सिंह, जय सिंह, धीर सिंह, बिजेंद्र सिंह, निहाल सिंह, मुख्त्यार सिंह, मलखान सिंह आदि शामिल थे।

बिजनौर शुगर मिल के महाप्रबंधक और प्रशासनिक अधिकारी एके सिंह ने 210-215 गन्ना मूल्य देने की पुष्टि की है। 3 करोड़ का भुगतान भेजा बिजनौर शुगर मिल ने 20 दिसंबर तक खरीदे गए गन्ने का भुगतान संबंधित गन्ना समिति को भेज दिया है।

जीएम इसरार अहमद ने बताया कि मिल ने 13 करोड़ छह लाख 19 हजार रुपए का गन्ना भुगतान कर दिया है। अब तक शुगर मिल  6.94 लाख क्विंटल गन्ने की पेराई कर 56 हजार 120 क्विंटल चीनी बना चुकी है। उन्होंने बताया कि मिल अपनी पूरी क्षमता के साथ चल रही है। किसानों का सहयोग अपेक्षित है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिजनौर, चांदपुर मिल भी देंगी 210-215 का रेट