class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेट्रो में सुरक्षा के लिए शीशे पर हाथ रखें!

‘‘सावधान! कृपया अपने हाथ की सुरक्षा के लिए दरवाजे अथवा शीशे पर हाथ रखें।’’ नोएडा मेट्रो की कई ट्रेनों में स्टीकरों पर यही लिखा दिख रहा है। सेवा शुरू होने के एक महीने से कुछ ही दिन ज्यादा हुए हैं, लेकिन मेट्रो के अंदर स्टीकरों के जरिए दिए गए दिशानिर्देशों की दुर्गति हो रही है। सिविक सेंस समझने की जगह इसकी सूरत बिगाड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है।


मेट्रो की हर कार में ऐसे एक दजर्न स्टीकरों से दिशानिर्देश दिए रहते हैं कि सफर या मेट्रो में सवार होते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं। हमेशा इसकी सवारी करने वालों को कई चीजें समझ नहीं आती हैं, लेकिन नए लोग मेट्रो में सवार होते ही इन दिशानिर्देशों से मुखातिब होते हैं। चार कार वाली नोएडा की मेट्रो में अभी से ही दिशानिर्देशों वाले स्टीकर बर्बाद हो गए हैं। जहां ‘न’ लिखा होता है, उस जगह को खुरच कर हटा दिया गया है। दूसरी तरफ जहां कुछ करने के लिए लिखा होता है, वहां पेन या स्केच पेन से लिख डाला गया है। ऐसा किए जाने पर सभी दिशानिर्देशों का मतलब बदल रहा है।


पहली बार मेट्रो की सवारी कर रहे राजीव सक्सेना ने ऐसी करतूतों पर अपनी राय दी कि लोगों को खुद इन दिशानिर्देशों को समझना होगा, क्योंकि स्टीकर खुरचने वाले या बेमतलब की बातें लिखने वाले कम नहीं हैं। इनके साथ यात्रा कर रही सुष्मिता ने कहा कि मेट्रो में अगर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं तो ऐसे लोगों पर तुरंत कार्रवाई की व्यवस्था होनी चाहिए। मेट्रो के अंदर इसकी सुरक्षा को लेकर कोई व्यवस्था नहीं होने के कारण असामाजिक तत्व ऐसी हरकतें आसानी से कर डालते हैं।

‘‘इस ओर अभी ध्यान नहीं दिया गया था। अगर ऐसी बात है तो डीएमआरसी इसपर तुरंत ध्यान देगा। लोगों को भी ऐसी हरकत करने वालों को रोकना चाहिए।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेट्रो में सुरक्षा के लिए शीशे पर हाथ रखें!