पीपीएफ अकाउंट - पीपीएफ अकाउंट DA Image
18 फरवरी, 2020|9:25|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीपीएफ अकाउंट

ज्यादातर लोग टैक्स बचाने के विकल्प में रूप में पीपीएफ का इस्तेमाल करते हैं। टैक्स को अगर छोड़ दिया जाए, तो इसके अलावा पीपीएफ के कई और फायदे भी हैं। वैसे भी एक बात जो गौर करने की है, वह ये कि कोई भी महिला हो या पुरुष, चाहें वह विवाहित या अविवाहित, वेतनभोगी या स्वरोजगार वाला, का खुद का पीपीएफ अकाउंट होना चाहिए।

पीपीएफ 15 वर्ष का अकाउंट होता है, इसमें प्रारंभिक वर्ष यानी जिस वर्ष आप खाता खुलवा रहे हैं, उसे नहीं जोड़ा जाता। यानी मोटे तौर पर यह 16 वर्ष का अकाउंट है। अकसर पैसा निकालने के समय लोग इसे लेकर असमंजस की स्थिति में रहते हैं। पीपीएफ अकाउंट में अकसर लोग पैसा डालना भूल जाते हैं। गौरतलब है कि अगर आपके अकाउंट में 500 रुपए भी नहीं है, तो आपका अकाउंट जारी नहीं रह पाता, लेकिन ऐसा नहीं है कि एक बार अकाउंट बंद हो गया, तो दोबारा यह चालू नहीं हो सकता। इसमें आप 500 रुपए जमा कर और वर्ष के अनुरूप 50 रुपए पेनाल्टी जमा कर इस अकाउंट को पुन: चालू कर सकते हैं।

कई लोग इसे लेकर संशय में रहते हैं कि पीपीएफ में 16 वर्षो के लिए पैसा ब्लॉक होता है। ध्यान देने की बात है कि पीपीएफ में 16वें वर्ष में जमा किए पैसे पर ब्याज का फायदा नहीं मिलता है, वहीं टैक्स में छूट का फायदा आपको इस वर्ष मिल सकता है। आप पीपीएफ अकाउंट में वर्ष में न्यूनतम 500 रुपए और अधिकतम 70,000 रुपए जमा कर सकते हैं। मैच्योरिटी पर मिलने वाला पैसा ब्याजमुक्त होता है। आप पीपीएफ से लोन भी ले सकते हैं। इसमें सेक्शन 80 सी के तहत टैक्स में छूट मिलती है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पीपीएफ अकाउंट