class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाटा स्टील ने दिए इस्पात कीमतों में वृद्धि के संकेत

टाटा स्टील ने दिए इस्पात कीमतों में वृद्धि के संकेत

टाटा स्टील ने भी अपने उत्पादों की कीमतों में बढ़ोत्तरी का संकेत दिया है।  टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक एच एम नेरुरकर ने यहां सीआईआई-सुरेश नियोतिया सेंटर फार एक्सिलेंस फार लीडरशिप में सोमवार को एक सम्मेलन के मौके पर कहा, जो नीचे गईं हैं, उन्हें उपर लाना ही होगा। उनसे पूछा गया था कि सार्वजनिक क्षेत्र की इस्पात कंपनी सेल ने जनवरी से कीमतों में वृद्धि का संकेत दिया है। हालांकि, नेरुरकर ने इस बारे में और जानकारी देने से इनकार किया।
    
मांग में आई तेजी के मद्देनजर देश की कई प्रमुख इस्पात कंपनियों ने अगले साल की शुरुआत में कीमतों में वृद्धि का संकेत दिया है। इससे पहले सार्वजनिक क्षेत्र की सेल, निजी क्षेत्र की कंपनियां भूषण स्टील, एस्सार, जेएसडब्ल्यू स्टील ने कहा है कि वे जनवरी से अपने उत्पादों के दामों में बढ़ोत्तरी करेंगी।

पिछले कुछ माह के दौरान चीन से सस्ते आयात की वजह से वैश्विक स्तर पर इस्पात की कीमतें 100 से 150 डालर प्रति टन घटकर 400 डालर प्रति टन रह गई थीं। लेकिन पिछले महीने अच्छी मांग की वजह से वैश्विक स्तर पर कीमतों में 50 डालर प्रति टन की तेजी आई है।
    
कोरस के बारे में नेरुरकर ने कहा कि टाटा स्टील कोरस की क्षमता का इस्तेमाल देश के निर्माण क्षेत्र में करेगी। उन्होंने कहा कि यूरोप का इस्पात बाजार सिकुड़ रहा है और कम उत्पादन पर उसे मुनाफा कमाने की जरूरत है। नेरुरकर ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि यूरोपीय संघ के निर्माण क्षेत्र से उसे और आर्डर मिलेंगे। हाल में कंपनी को यूरोप से दो आर्डर मिले हैं। इनमें से एक आर्डर फ्रांस से मिला है। कंपनी नेतृत्व के सामने चुनौतियां का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि टाटा स्टील के लिए कौशल का प्रबंधन प्रमुख चुनौती है। कंपनी के 25 से 30 प्रतिशत प्रबंधक अगले दो-तीन साल में सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टाटा स्टील ने दिए इस्पात कीमतों में वृद्धि के संकेत