class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक ऐसी फिल्म जिससे ‘अवतार’ भी शरमाए

एक ऐसी फिल्म जिससे ‘अवतार’ भी शरमाए

2000 करोड़ रुपए वाली विश्व की सबसे मंहगी फिल्म ‘अवतार’ बॉक्स ऑफिस पर न जाने कितनी कमाई करेगी, लेकिन इतना तय है कि मात्र 15 हजार डॉलर यानी 7.5 लाख रु. में ‘पैरानॉर्मल एक्टिविटी’ जैसी हॉरर फिल्म भारत में अच्छी कमाई का जश्न मना सकती है, जो कि पहले ह 100 मिलियन डॉलर यानी 100 करोड़ रु. कमा चुकी है।

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री को हॉलीवुड की ओर से लगातार शॉक मिल रहे हैं। जाते साल के साथ आयी ‘अवतार’ जैसी विश्व की सबसे महंगी फिल्म को भारत में अब तक की सबसे बड़ी ओपनिंग मिली है। इससे पहले ‘2012’ अपना लोहा मनवा चुकी है। हॉलीवुड की ओर से अगला शॉक 8 जनवरी, 2010 को लग सकता है, जब यहां ‘पैरानॉर्मल एक्टिविटी’ जैसी हॉरर फिल्म रिलीज होगी।

मजे की बात है कि इस फिल्म का बजट ‘अवतार’ (2000 करोड़ रु.) और ‘2012’  (200 मिलियन) की तरह बड़ा नहीं है। ‘पैरानॉर्मल एक्टिविटी’ मात्र 15 हजार डॉलर में बनी फिल्म है। इससे भी रोचक तथ्य यह है कि इस फिल्म ने अभी तक 100 मिलियन डॉलर से भी अधिक की रिकॉर्डतोड़ कमाई की है।

मिराह इंटरटेंनमेंट, रुपाली़ ओम इंटरटेंनमेंट के सहयोग से ब्लमहाउस प्रोडक्शन की यह फिल्म इतने कम बजट में बनने वाली विश्व की पहली ऐसी फिल्म है, जिसकी कमाई का आंकड़ा 100 मिलियन डॉलर के आंकड़े के पार जाता है। रुपयों-पैसों के आंकड़े से नजर हटाएं तो इस फिल्म से जुड़े और भी कई दिलचस्प पहलू हैं, जो भारतीय दर्शकों को हॉरर के नाम पर दिल दहला देने वाले मनोरंजन से सराबोर करने के लिए काफी हैं। मसलन, इसकी मेकिंग और इसे रिलीज करने के दौरान अपनाए गये फंडे आदि।

‘पैरानॉर्मल एक्टिविटी’ को एक कमरे में फिल्माया गया है, जिसमें साधारण लाइटिंग का इस्तेमाल किया गया है, जो अमूमन घरों में जलाई जाती हैं। फिल्म की कहानी एक कपल कैटी और मिकाह के बारे में है, जो अपने घर में कुछ अलौकिक शक्तियों के प्रभाव को महसूस करते हैं। शुरूआती अहसास में उन्हें यह सब एक वहम या अंधविश्वास लगता है, लेकिन धीरे-धीरे जब यह शक्तियां उनके आस-पास अपनी उपस्थिति का दायरा बढ़ाने लगती है तो उनके लिए रोज नई मुसीबतें पैदा होने लगती हैं। ऐसे में कैटी को एक दिन लगता है कि यह शक्तियां बचपन से उसके साथ हैं। तभी मिकाह निर्णय लेता है कि वह अपने होम वीडियो कैमरा से उन शक्तियों को कैमरे में कैद करेगा।

कहानी में एक दिलचस्प मोड़ तब आता है जब एक डॉ. फ्रेडरिक्स उनके घर आते हैं। वह पैरालौकिक शक्तियों के बारे में अच्छी जानकारी रखते हैं। डॉ. फ्रेडरिक्स को उनके घर में आते ही पता लग जाता है कि घर में कुछ दिक्कत है। यह भी जल्द ही पता लग जाता है कि बुरी शक्तियां कैटी के पीछे हैं। चीजें रोजाना के हिसाब से बिगड़ने लगती हैं। इसलिए मिकाह 24 घंटे के हिसाब से कैमरा रिकॉर्डिग ऑन कर देता है।

बुरी शक्तियों की हरकतें आधी रात के बाद और ज्यादा उपद्रव मचाती है। जैसे कि कैटी के बिस्तर में घुसना, उसके सिरहाने आ बैठना आदि। इस फिल्म के निर्माण में एक कपल द्वारा स्थापित वीडियो कैमरे से प्राप्त वास्तविक फुटेज का भी इस्तेमाल किया गया है। ऐसा प्रयोग पहले हॉलीवुड फिल्म ‘द ब्लेयर विच प्रोजेक्ट’ और ‘द लास्ट ब्रॉडकास्ट’ में भी किया गया है, जो काफी पसंद किया गया था। रोचक तथ्य यह भी है कि ‘पैरानॉर्मल एक्टिविटी’ की शूटिंग महज 7 दिन की गयी, जिसे निर्देशक ओरेन पेली ने अपने घर पर ही पूरा किया। फिल्म के किरदारों के अलावा उनके साथ सह-निर्माता टोनी टेलर, पेली की पूर्व प्रेमिका और  दोस्त जुबैदा ही फिल्म क्रू सदस्य थे।

जानकारी के अनुसार ओरेन पेली बचपन से ही भूत-प्रेत व आत्मा से डरते थे। उन्हें तो हॉलीवुड फिल्म ‘घोस्टबस्टर्स’ से भी डर लगता था जो कि एक कॉमेडी हॉरर फिल्म थी। एक साइट में दिये अपने बयान के अनुसार पेली कहते हैं, ‘इस फिल्म में आत्मा जैसे तत्वों को शामिल करना मेरे खुद के अनुभवों से निकले नतीजे है जिसमें उन शैतानों की हैवानियत सामने निकल कर आती है। यदि आपके घर में ऐसा कुछ है तो फिर भी आप कुछ नहीं कर सकते। मैं चाहता था कि फिल्म में कम से कम खून-खराबा दिखें क्योंकि मुझे डरावनी फिल्में इसी तरह पसंद है। शायद यही कारण है कि फिल्म के अधिकतर सीन एकदम खामोशी से फिल्माए गए है। क्योंकि सन्नाटे में आप मामूली से मामूली हरकत को भी आसानी से भांप लेते है।’

रुपाली़ ओम इंटरटेंनमेंट की अगली हॉरर फिल्म ‘क्लिक’, जिसका निर्देशन संगीत सिवन कर रहे हैं, अगले साल फरवरी में रिलीज होगी। दूसरी हॉरर फिल्म ‘हेल्प’ में बॉबी देओल व मुग्धा गोडसे, जो अप्रैल में रिलीज होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक ऐसी फिल्म जिससे ‘अवतार’ भी शरमाए