class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस से भिड़े प्रदर्शनकारी प्रधान

सात सूत्री मांगों को लेकर प्रधानों का गुस्सा फूट गया है। प्रधानों ने सोमवार को यहां जोरदार जुलूस निकाला और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा। इससे पूर्व प्रधानों ने एसबीआई तिराहे पर जाम लगाया। प्रधानों की पुलिस से झड़प हो गई। प्रधानों ने आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है।

प्रधान संगठन के अध्यक्ष हरीश जनौटी के नेतृत्व में प्रधान ब्लाक में एकत्र हुए। वहां से जुलूस की शक्ल में एसबीआई तिराहे पर पहुंचे। प्रधानों ने वहां पर जाम लगा दिया। जिससे दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई।

कोतवाल सीजी गोस्वामी ने मौके पर पहुंच कर जाम खुलवाने की कोशिश की तो प्रधानों से पुलिस की झड़प हो गई। गुस्साए प्रधानों ने पुलिस से दो टूक शब्दों में कह दिया कि वे प्रधानों के मामले में न पड़े। यदि ऐसा हुआ तो पुलिस के खिलाफ भी आंदोलन छेड़ देंगे।

प्रधान जुलूस की शक्ल में कलेक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा। प्रधानों ने ज्ञापन में कहा कि राशनकार्ड का समय से नवीनीकरण कराने, पात्र परिवारों को बीपीएल का लाभ देने, किसानों को सूखा राहत की राशि देने, मनरेगा में स्टांप, दस्तावेज, टूल बॉक्स, स्टेट बॉक्स, प्रशासनिक स्वीकृति, मस्टरौल समय से उपलब्ध कराने की मांग की।

इसके अलावा प्रधानों ने लघु सिंचाई के कार्यो को ग्राम पंचायतों को सौंपाने, ग्राम शिक्षा समिति में पूर्व की भांति प्रधानों को ही वित्तीय अधिकारी देने और पंचायती एक्ट में संशोधन कर 29 विभाग पंचायतों के सौंपने, मानदेय पांच हजार रुपये करने की मांग की। 

जुलूस और जाम लगाने वालों में डोबा की प्रधान सरस्वती देवी, बहादुर राम, लक्ष्मण सिंह खाती, पुष्पा देवी, गंगा देवी, मीना देवी, प्रेमा देवी, रमा मलड़ा,प्रकश राम, सुंदर राम, देवकी देवी, रेखा देवी, देवुली देवी, महेश चंद्र, जगदीश प्रसाद, गुलाब राम आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस से भिड़े प्रदर्शनकारी प्रधान