class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकारी अस्पताल में पाएं अपोलो जैसी सुविधाएं

सरकारी अस्पताल का प्रबंधन अब निजी हाथों में होगा। अपोलो व फोटिर्स जैसे समूह इसका संचालन करेंगे। गरीबों का इलाज मुफ्त होगा। अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद होंगी। कानपुर, इलाहाबाद और बस्ती के जिला अस्पताल में पब्लिक प्राइवेट पार्टनर्शिप (पीपीपी) पायलट प्रोजेक्ट के तहत ऐसा होगा।

आगरा के जिला अस्पताल में भी यह प्रयोग किया जाएगा। यह जानकारी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अनंत कुमार मिश्र ने दी। जिला योजना की बैठक के बाद उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सा ग्रुप के साथ सरकार की बात चल रही है।

जिस जिले में एक से अधिक अस्पताल होंगे, वहाँ के एक अस्पताल को निजी हाथों में सौंपा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सरकारी अस्पतालों की ओपीडी में अच्छा इलाज हो रहा है। लेकिन ऑपरेशन और गंभीर बीमारियों के इलाज में वे अभी बहुत पीछे हैं।

एक हजार से बढ़ाकर दो हजार रुपये प्रतिदिन देने के बावजूद चिकित्सक संविदा पर नहीं आना चाह रहे हैं। डॉक्टरों की बेहद कमी है। ऐसे में निजी हाथों में अस्पताल की व्यवस्था देना का प्रयोग किया जाएगा।

यहाँ कैंसर, किडनी, हृदय, मस्तिष्क सहित तमाम बड़ी बीमारियों का इलाज होगा। लोगों को पहले की ही तरह सस्ते दर पर इलाज मिलेगा। इलाज का सारा खर्च सरकार वहन करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकारी अस्पताल में पाएं अपोलो जैसी सुविधाएं