अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीवन बीमा उद्योग का प्रीमियम संग्रह 21 प्रतिशत बढ़ा

जीवन बीमा उद्योग का प्रीमियम संग्रह 21 प्रतिशत बढ़ा

जीवन बीमा उद्योग का प्रीमियम संग्रह चालू वित्त वर्ष के पहले सात महीनों में 21 प्रतिशत बढ़ा है, जो इस क्षेत्र में सुधार का संकेत देता है। चालू वित्त वर्ष के पहले छह महीनों में उद्योग की वृद्धि दर 18 प्रतिशत रही है, जबकि अप्रैल से अक्टूबर के बीच के सात माह की अवधि के दौरान प्रीमियम वसूली 21 प्रतिशत के इजाफे के साथ 1,20,503 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 99,310 करोड़ रुपये रही थी।

बीमा उद्योग के संगठन जीवन बीमा परिषद, जिसमें क्षेत्र के 22 खिलाड़ी शामिल हैं, द्वारा जुटाए गए आंकड़ों के अनुसार इस दौरान नवीकरण प्रीमियम संग्रह पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 24 प्रतिशत बढ़कर 73,952 करोड़ रुपये रहा है। वहीं साल दर साल आधार पर नया प्रीमियम 18 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 46,551 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

परिषद के महासचिव एस बी माथुर ने कहा कि कम कमीशन वाली एक प्रीमियम पालिसी की वजह से इस क्षेत्र में तेजी आई है।

इसी तरह नियमित यूनिट लिंक्ड बीमा योजनाओं यानी यूलिप के कुल नवीकरण प्रीमियम वसूली 42 प्रतिशत बढ़कर 29,738 करोड़ रुपये रही है, जबकि पूर्व वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह 20,878 करोड़ रुपये रही थी। वहीं गैर लिंक्ड प्रीमियम 14 फीसदी के इजाफे के साथ 44,214 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 38,897 करोड़ रुपये रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जीवन बीमा उद्योग का प्रीमियम संग्रह 21 प्रतिशत बढ़ा