class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोरखालैंड पर त्रिपक्षीय वार्ता, कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

गोरखालैंड पर त्रिपक्षीय वार्ता, कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

पृथक गोरखालैंड की मांग के मुद्दे पर सोमवार को यहां केंद्र सरकार, गोरखालैंड जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) और पश्चिम बंगाल सरकार के प्रतिनिधियों के बीच वार्ता शुरू हो गई।

स्थानीय मेफेयर होटल में सुबह 11 बजे बैठक की शुरुआत हुई। बैठक में केंद्रीय दल का नेतृत्व गृह सचिव जीके पिल्लई और छह सदस्यीय राज्य सरकार के दल का नेतृत्व मुख्य सचिव अशोक मोहन चक्रवर्ती ने किया।

जीजेएम के 16 सदस्यीय दल का नेतृत्व पार्टी महासचिव रोशन गिरी कर रहे हैं।  बैठक में केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त वार्ताकार लेफ्टिनेंट जनरल विजय मदान भी उपस्थित थे।

पुलिस सूत्रों के अनुसार बैठक के मद्देनजर पूरे शहर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। जहां जीजेएम पृथक गोरखालैंड की मांग कर रहा है वहीं एक अन्य संगठन 'आमरा बंगाली, बांग्ला भाषा ओ भाषा बचाओ समिति' इसका विरोध कर रही है। सिलिगुड़ी के मैदानी इलाके में इस सगंठन के सदस्य रविवार से अनशन पर हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गोरखालैंड पर त्रिपक्षीय वार्ता, कड़ी सुरक्षा व्यवस्था