DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों की दस्तक

अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों की दस्तक

अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों की दस्तक
बीते साल विदेशी फैशन डिजाइनरों की नजर भारतीय बाजार पर अधिक रही। भारत में पहली बार किसी अंतरराष्ट्रीय फैशन समारोह का आयोजन इस साल किया गया। गुड़गांव के होटल क्राउन प्लाजा में ऑक्सीब्लीच इंडिया इंटरनेशनल फैशन वीक (3 से 5 दिसंबर) के नाम से इस समारोह का आयोजन किया गया रिया कम्युनिकेशन इंक और डाबर द्वारा।

11 इंटरनेशनल डिजाइनरों ने इसमें शिरकत की। अमेरिका से एंड्रेस एक्विनो, तंजानिया से मुस्तफा हसन अली, स्पेन से रैमॉन गुरिलो, इजरायल से चेन कोहेन, पाकिस्तान से मोनिका पारचा, रोमानिया से कैटालिन बोटेजैटू, नार्वे से टीना हैगेनजेन आदि डिजाइनरों ने इस आयोजन में अपने-अपने कलेक्शन पेश किए। इन डिजाइनरों ने जो कलेक्शन पेश किए, उनमें कई पहनावों में भारतीय असर दिखाई दिया। भारतीय बाजार में अपनी पैठ बनाने के लिए वे यहां की सोच के अनुरूप ढल गए। चेन्नई में आयोजित फैशन वीक को भी चेन्नई इंटरनेशनल फैशन वीक नाम दिया गया। वजह यह रही कि भारतीय फैशन डिजाइनरों के अलावा इसमें 10 अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों ने भाग लिया। किसी भी बड़े फैशन आयोजन में अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों की दस्तक पहली बार देखने को मिली।

विदेशों में भी छाए भारतीय डिजाइनर
भारतीय डिजाइनरों ने विदेशी रैंप पर भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। चाहे लंदन फैशन वीक हो या मिलान फैशन वीक, पेरिस फैशन वीक हो या कोई अन्य फैशन ईवेंट, इन आयोजनों में भारतीय डिजाइनरों के कलेक्शन भी रैंप पर दिखे। लंदन फैशन वीक में फाल्गुनी और शान पिकॉक, मिलान फैशन वीक में अल्पना-नीरज (अजारा) और अत्सु, पेरिस फैशन वीक में मनीष अरोड़ा, जापान फैशन वीक में रितेश कुमार, कैलिफोर्निया में आशिमा-लीना आदि डिजाइनरों ने खूब वाहवाही बटोरी।विदेशी रैंप पर भारतीय मॉडल लक्ष्मी मेनन काफी सफल रहीं। वह पहली भारतीय मॉडल हैं, जिन पर ‘वोग’ मैगजीन ने 12 पेज का फोटो फीचर प्रकाशित किया। इस तरह वह नाओमी कैंपबेल, सिंडी क्रैफोर्ड आदि  की श्रेणी में आ खड़ी हुईं।


पहली बार हुआ पुरुष फैशन वीक
फैशन डिजाइन काउंसिल ऑफ इंडिया और भारतीय डिजाइनरों के सतत प्रयास का ही परिणाम था कि इस साल पहली बार भारत में सिर्फ पुरुषों के लिए फैशन वीक का आयोजन हुआ। इंडिया मेन्स वीक 2009 के नाम से 11 से 13 सितंबर को आयोजित इस फैशन समारोह से एक बात तो साफ तौर पर स्पष्ट हो गई कि भारतीय फैशन कारोबार में पुरुषों के लिए भी काफी कुछ करने को है। हालांकि इससे पहले भी फैशन आयोजनों में पुरुषों के लिए खास शो या दिन निर्धारित होता था, जैसा कि लक्मे फैशन वीक के दौरान हुआ, पर पूरा फैशन समारोह पहली बार दिल्ली में आयोजित हुआ। वैन हुसेन इस आयोजन का मुख्य प्रायोजक रहा। कोई शक नहीं कि पुरुषों का फैशन अब सामान्य कमीज-पैंट से आगे बढ़कर बेहद फैशनेबल हो चुका है। इसी के मद्देनजर इस आयोजन में न सिर्फ पुरुषों के परिधानों का प्रदर्शन किया गया, बल्कि पुरुषों से जुड़ी तमाम एक्सेसरीज भी फैशन शो और प्रदर्शनियों के माध्यम से ग्राहकों, दर्शकों के समक्ष रखी गईं। हालांकि पुरुषों के लिए तमाम ब्रांड बाजार में हैं, पर मेन्स वीक के ऐसे आयोजनों से नि:संदेह पुरुषों के लिए भी डिजाइनर ड्रेसेज का कारोबार और तेजी से फलेगा-फूलेगा। वाकई भारतीय फैशन की दुनिया में यह सराहनीय शुरुआत रही। भारत में पुरुष फैशन वीक के आयोजन को लेकर काफी दिनों से चर्चा हो रही थी, पर इसके लिए माहौल नहीं बन पा रहा था। आखिरकार इस साल यह संभव हो सका और भारत भी उन देशों की कतार में खड़ा हो गया, जहां ऐसे आयोजन होते हैं।

बीते साल विदेशी फैशन डिजाइनरों की नजर भारतीय बाजार पर अधिक रही। भारत में पहली बार किसी अंतरराष्ट्रीय फैशन समारोह का आयोजन इस साल किया गया। गुड़गांव के होटल क्राउन प्लाजा में ऑक्सीब्लीच इंडिया इंटरनेशनल फैशन वीक (3 से 5 दिसंबर) के नाम से इस समारोह का आयोजन किया गया रिया कम्युनिकेशन इंक और डाबर द्वारा। 11 इंटरनेशनल डिजाइनरों ने इसमें शिरकत की। अमेरिका से एंड्रेस एक्विनो, तंजानिया से मुस्तफा हसन अली, स्पेन से रैमॉन गुरिलो, इजरायल से चेन कोहेन, पाकिस्तान से मोनिका पारचा, रोमानिया से कैटालिन बोटेजैटू, नार्वे से टीना हैगेनजेन आदि डिजाइनरों ने इस आयोजन में अपने-अपने कलेक्शन पेश किए। इन डिजाइनरों ने जो कलेक्शन पेश किए, उनमें कई पहनावों में भारतीय असर दिखाई दिया। भारतीय बाजार में अपनी पैठ बनाने के लिए वे यहां की सोच के अनुरूप ढल गए।
 
चेन्नई में आयोजित फैशन वीक को भी चेन्नई इंटरनेशनल फैशन वीक नाम दिया गया। वजह यह रही कि भारतीय फैशन डिजाइनरों के अलावा इसमें 10 अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों ने भाग लिया। किसी भी बड़े फैशन आयोजन में अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों की दस्तक पहली बार देखने को मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अंतरराष्ट्रीय फैशन डिजाइनरों की दस्तक