class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब भाषणों से बोर नही होंगे लोग

उत्तराखण्ड के आपदा प्रबन्धन विभाग ने भाषणों और विज्ञापनबाजी के बजाय जनता को अपनी बात समझाने के लिये मनोरंजक फिल्मों का रोचक रास्ता चुना लिया है। उत्तराखण्ड के दैवी आपदा प्रबन्धन विभाग के मंत्री खजान दास ने एक ऐसी फिल्म का रविवार को लोकर्पण किया जो कि आम मुम्बइया फिल्मों की तरह है।

गढ़वाली और कुमाउंनी में बनी इस फिल्म में भी लगभग आम हिन्दी फिल्मों की ही तरह मसाले भरे हुये है। इसमें कर्णप्रिय गीत भी है जो अन्य व्यावसायिक फिल्मों की ही तरह लोगों को झूमने और रूलाने के लिये विवश करते है। इस फिल्म में फर्क इतना ही है कि इसकी विषय वस्तु भूस्खलन त्रासदी है और इसे रोकने और इससे बचने के लिये बहुत ही सशक्त संदेश दिया हुआ है। इसमें कहा गया है कि अगर पेड़ कटेंगे और जंगलो में आग लगेगी तो भयानक भूस्खलन आयेंगे। इसमें भूस्खलन के समय बचाव के तरीके भी पात्रों द्वारा समझाये गये है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब भाषणों से बोर नही होंगे लोग