DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब पीकर ड्राइविंग की तो लाइसेंस रद्द

दिल्ली की तर्ज पर फरीदाबाद कमिश्नरी भी नए साल पर शराबी चालकों पर नकेल कसेगी। शराब पीकर गाड़ी चलाते पकड़े जाने वाले ड्राइवरों का ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी। चालान करने वाला अफसर इस बाबत अथॉरिटी से सिफारिश करेगा। नए साल से शुरू होने वाले इस अभियान का मकसद दुर्घटनाएं कम करना है।

वैसे शहर में शाम ढलते ही दारु पीकर गाड़ी चलाने वालों की संख्या बढ़ जाती है। नए साल के जश्न में शराब पीना आम बात हो जाती है। होटल रेस्तराओं में रात भर लोग मौज मस्ती करते हैं। इधर से उधर रात भर सड़कों का अन्य दिनों के मुकाबले गाड़ियों की तादाद ज्यादा दिखाई पड़ती है। जश्न में डूबे लोग शराब पीकर गाड़ी लेकर सड़कों पर उतर आते हैं। ऐसे में दुर्घटना की आशंका ज्यादा बढ़ जाती है।

हर साल कोई बड़ी घटना जरूर होती है। इसको रोकने के लिए पुलिस सख्त कदम उठाने जा रही है। चालान कटने पर जुर्माने से हटकर अब ड्राइवर का डीएल रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी। पुलिस चालान काटने के बाद लाइसेंस बनाने वाली अथॉरिटी को उसका डीएल रद्द करने की सिफारिश करेगी।

शराबी ड्राइवरों के कटे हैं 460 चालान- इस साल नवंबर तक 678 दुर्घटनाओं में 211 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। रात में हाइवे और गुड़गांव-फरीदाबाद रोड पर पर तेज गति से गाड़ी दौड़ने वाले बड़ी संख्या मे देखे जा सकते हैं।

आकंडों से अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोग फरीदाबाद में ज्यादा नियमों की अनदेखी करते हैं। 2008 में ओवर स्पीडके 4875 व दारु पीकर गाड़ी चलाने पर 840 चालान काटे गए थे।

2009 में अभी तक ओवर स्पीड के 3444 व शराब पीकर गाड़ी चलाने के 460 चालान काटे जा चुके हैं। यह अलग बात है कि इस साल चुनावों में व्यस्तता के चलते इसकी प्रक्रिया धीमी रही। लेकिन यह संख्या भी कुछ महीनों की है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शराब पीकर ड्राइविंग की तो लाइसेंस रद्द