अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रश्नकाल बाधित नहीं होने देगा विपक्ष

लोजपा की दलित एकता मार्च पर लाठी चार्ज से नाराज विपक्ष ने सरकार के खिलाफत की अपनी स्ट्रेटजी में थोड़ा बदलाव कर दिया है। अब विधानमंडल में प्रश्नकाल शांतिपूर्ण तरीके से चलेगा।

प्रश्नकाल खत्म होने के बाद विपक्ष फिर से कार्यस्थगन प्रस्ताव लायेगा। सोमवार को विधानसभा में पटना के सिटी एसपी, डीएसपी और एक इंस्पेक्टर के खिलाफ विशेषधिकार हनन का मामला लाया जायेगा। रविवार को लोजपा कार्यालय में विपक्षी दलों की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

वैसे तो बैठक में कांग्रेस, सीपीआई और सीपीएल के प्रतिनिधि नहीं पहुंचे लेकिन प्रश्नकाल बाधित नहीं करने पर सभी दलों ने अपनी सहमति जता दी है। सूत्रों के अनुसार जनहित के मुद्दे पर सरकार को घेरने के लिए प्रश्नकाल ही सबसे मजबूत हथियार है। इसके जरिये विकास और कल्याणकारी योजनाओं पर सरकार के दावे की पोल खोली जायेगी।

शून्य काल शुरू होते ही विपक्ष फिर से बाद लाठी चार्ज के मुद्दे पर सरकार से सफाई मांगने के लिए कार्यस्थगन प्रस्ताव लायेगा। प्रदेश लोजपा महासचिव केशव सिंह ने बताया कि बैठक में विपक्ष के उपनेता शकील अहमद खान, राजद के मुख्य सचेतक डॉ. रामचन्द्र पूर्वे और विधान परिषद में प्रतिपक्ष के नेता गुलाम गौस, लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस, विधायक दल के नेता महेश्वर सिंह शामिल हुए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रश्नकाल बाधित नहीं होने देगा विपक्ष