अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दवाओं की कमी से जूझ रहा है महिला अस्पताल

जिला महिला अस्पताल दवाओं की कमी से जूझ रहा है। सिर्फ महिलाओं और बच्चों के लिए बने इस अस्पताल महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा जरूरी दवाई फॉलिक एसिड भी पिछले चार महिनों से खत्म है।

इसके अलावा छोटे बच्चों को दिया जाने वाला बुखार का सिरप, विटामिन बी-कॉम्पलेक्स और विटामिन ए जैसी दवाएं भी लंबे समय से खत्म हैं। इसके कारण अस्पताल की ओर से मरीजों को या तो दूसरी दवा दी जा रही है या फिर उन्हें बाहर से दवा खरीदने की सलाह दी जा रही है।

महिला अस्पताल में ऐसी दवाओं की भारी कमी है जो महिलाओं को उनके गर्भावस्था के आरंभ में दी जाती है। इन दवाओं की कमी के कारण महिलाओं को विटामिन बी-कॉम्पलेक्स और विटामिन ए की जगह मल्टी विटामिन की गोली दी जा रही है और फॅलिक एसिड तो दिया ही नहीं जा रहा है। इससे अस्पताल में इलाज के लिए आने वाली महिलाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

सीएमएस का कहना है कि अस्पताल में आने वाली दवाओं और मरीजों के अनुपात में अचानक बढ़ोत्तरी हुई है। दवाओं के लिए डिमांड समय-समय पर ही भेजा जाता है जबकि अस्पताल में डिलीवरी के लिए आने वाली महिलाओं की संख्या में कब कितना ईजाफा हो जाए पता ही नहीं होता है। ऐसे में दवाओं का खत्म हो जाना स्वाभाविक है।

 

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दवाओं की कमी से जूझ रहा है महिला अस्पताल