DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

योजना से जुड़ेंगी अधिक उत्पादन लागतवाली खदानें

ॉरवर्ड इ-ऑक्शन स्कीम से अधिक उत्पादन लागतवाली खदानों को जोड़ा जायेगा। कोल इंडिया प्रबंधन इसका खाका तैयार कर रहा है। स्कीम के अगले वित्तीय वर्ष में शुरू हो जाने की संभावना है। इस पर तेजी से काम चल रहा है।ड्ढr इस योजना के तहत ग्राहकों की दीर्घकालीन जरूरतों को पूरा किया जाना है। यह तीन माह से एक साल की अवधि के लिए होगा। कंपनी के निदेशक तकनीक एनसी झा के अनुसार अभी इस योजना का पुनरीक्षण हो रहा है। शीघ्र ही इसे सरकार के पास पेश किया जायेगा। उन्होंने आशा जतायी कि अगले वित्तीय वर्ष में यह शुरू हो जायेगी। इसमें ग्राहकों को खुद इस्तेमाल करने के लिए कोयला मिलेगा। इस योजना के तहत ग्राहकों को बेहतर क्वालिटी की अधिक उत्पादन लागतवाली खदानों से कोयला देने रणनीति है। लागत घटाने के लिए प्रबंधन खदानों का मशीनीकरण भी कर सकता है।ड्ढr इसके अलावा 30 कोल ब्लॉक से कंपनियों में उत्पादन शुरू होना है। यहां से भी इस योजना में कोयले की आपूर्ति की जायेगी। न्यू कोल पॉलिसी के तहत ही योजना शुरू होनी थी। पॉलिसी अक्तूबर-07 से लागू हो चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: योजना से जुड़ेंगी अधिक उत्पादन लागतवाली खदानें