DA Image
29 अक्तूबर, 2020|9:58|IST

अगली स्टोरी

कम उम्र में ब्लड प्रेशर हारमोंस समस्या

फोर्टिस इंटरनेशनल ओनकोलोजी सेंटर की सीनियर सजिर्कल कंसलटेंट डा.मुक्ता बक्शी का कहना है कि कम उम्र में ब्लड प्रेशर के मामले बेहद तेजी से बढ़ रहे हैं। इसका कारण हारमोंस डिस्टर्ब होना है। हारमोंस डिस्टर्बेंस के कारण ही बच्चों में बौनापन, सामान्य से अधिक लंबे होने तथा लड़कों में लड़कियों के तथा लड़कियों में लड़कों के लक्षण दिखाई दे रहे हैं।

हिन्दुस्तान से बातचीत में उन्होंने कहा कि थायराइड की सबसे अधिक समस्या महिलाओं में होती है। इसमें गले में पेरा थायराइड, छाती में थाइमस गलाइंड औ ब्रेन में पिटेटरी गलाइंड होता है। इसके कारण हारमोंस डिस्टर्ब रहते हैं। ब्रेस्ट, ओबरी और ओरेस्टीज यह हारमोंस से ही संबंधित होते हैं।

थायराइड के कारण व्यक्ति का वजन या बहुत तेजी से बढ़ने लगता है या बहुत अधिक दुबलापन आ जाता है। कई बार नींद बहुत अधिक आने लगती है। आंखे बहुत बड़ी-बड़ी सी दिखाई देती है। पेरा थायराइड में हड्डियां बहुत अधिक कमजोर हो जाती है।

ऐसे में कैल्शियम का चेकअप जरूरी है। इसके कारण कई बार छाती में दर्द होने लगता है। कफ भी बढ़ जाता है। यदि समय पर इसकी पकड़ हो जाए तो इससे होने वाले नुकसानों से बचा जा सकता है। डा.मुक्ता बक्शी के मुताबिक 20 से 30 वर्ष की आयु में ब्लड प्रेशर, बच्चों की हाईट कम रह जाना, लड़कों और लड़कियों में एक-दूसरे के लक्षण दिखाई देना भी इसी की ही देन है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:कम उम्र में ब्लड प्रेशर हारमोंस समस्या