class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हेडली और राणा के वीजा कागजात सुरक्षितः भारतीय अधिकारी

हेडली और राणा के वीजा कागजात सुरक्षितः भारतीय अधिकारी

अमेरिका के शिकागो स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने स्पष्ट किया है कि मुंबई हमलों के संदिग्ध आतंकवादियों डेविड कोलमैन हेडली और उसके साथी तहव्वुर हुसैन राणा के वीजा से संबंधित कागजात सुरिक्षत हैं।

दूतावास के एक अधिकारी ने कहा कि हेडली के वीजा कागजात हमारे कब्जे में हैं न कि दिल्ली में। अपना नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर अधिकारी ने बातचीत में उन खबरों का भी खंडन किया कि विदेश सचिव निरुपमा राव ने कभी यह कहा था कि हेडली के कागजात गुम हो गए हैं।

उन्होंने कहा कि इन कागजातों के कथित रूप से गुम होने के सिलसिले में न तो भारत और न हीं अमेरिका में किसी तरह की शिकायत दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। वीजा आवेदन मेरे पास ही हैं।

नई दिल्ली और विदेश स्थित इसके राजनयिक मिशन के बीच सूचनाओं के सही प्रस्तुतिकरण की जरूरत पर बल देते हुए इस अधिकारी ने कहा कि शिकागो स्थित दूतावास से वीजा जारी करते समय कम्प्यूटरों में किसी तरह की गड़बडी़ नहीं हुई थी और इस दूतावास की कार्यप्रणाली नियमों के तहत संचालित होती है।

उन्होंने बताया कि 30 जून 2006 को हेडली को पहली बार वीजा जारी किया गया था और उस वक्त आज का कोई भी भारतीय अधिकारी शिकागो स्थित भारतीय दूतावास में मौजूद नहीं था। उस वक्त वीजा अनुभाग में प्रभारी अधिकारी के तौर पर जगदीश राय तैनात थे और वीजा विंडो के प्रभारी अशोक साहनी थे। उन्होंने कहा कि राय ने पहली बार हेडली का वीजा जारी किया था। उस वीजा को उचित ठहराने का हमारा कोई मकसद नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हेडली और राणा के वीजा कागजात सुरक्षितः भारतीय अधिकारी