class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी आधार पर ब्रिटेन में घुस रहे हैं भारतीय: रिपोर्ट

फर्जी आधार पर ब्रिटेन में घुस रहे हैं भारतीय: रिपोर्ट

हजारों की संख्या में भारतीय और विशेषकर पंजाब के युवा फर्जी आधार पर छात्र वीजा हासिल कर ब्रिटेन में प्रवेश कर रहे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

गोपनीय तरीके से कार्यरत पत्रकारों ने पाया कि विदेशी एजेंट भावी छात्रों को 10,500 पाउंड के ऋण की पेशकश कर रहे हैं ताकि वे अपने वीजा आवेदन में ब्रिटिश बॉर्डर एजेंसी को इस बात के लिए सहमत कर सकें कि ब्रिटेन में फीस और अपने रहन-सहन के लिए उनके बैंक खाते में पर्याप्त मात्रा में धन है।

संडे टाइम्स में प्रकाशित रिपोर्ट में बताया गया है कि यह राशि छात्रों के बैंक खाते में बैंक स्टेटमेंट में एक महीने तक रहती है उसके बाद ऋणदाता को यह धन वापस लौटा दिया जाता है। रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि यह गोरखधंधा पंजाब के कस्बों में खूब फलफूल रहा है। इसके चलते गृह विभाग के नए अप्रवास नियमों को धता बताया जा रहा है, जिसके बारे में मंत्रियों का कहना था कि इनसे नए लोगों की संख्या को कम करने में मदद मिलेगी। लेकिन इसके विपरीत पिछले साल भारतीय छात्रों को दिए गए वीजा की संख्या 29 हजार से बढ़कर 52 हजार हो गई।

रिपोर्ट में कहा गया है कि इनमें से अधिकांश लोगों का मकसद पढ़ाई नहीं होता है बल्कि वे एक बार ब्रिटेन में घुसने के बाद गायब हो जाते हैं।

ब्रिटेन में नई प्वाइंट आधारित व्यवस्था की शुरूआत लियाम बायरेन ने की थी जो इस समय वित्त मंत्रालय में मुख्य सचिव हैं। छात्रों को ब्रिटेन आने के लिए 40 प्वाइंट की जरूरत होती है। किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से कोर्स की पेशकश के 30 प्वाइंट और पर्याप्त मात्रा में धन होने के लिए दस प्वाइंट मिलते हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री के वकील विक्रम चौधरी के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया है कि हजारों छात्र हर साल काम करने और धन कमाने के लिए ब्रिटेन जाते हैं। उनका मुख्य मकसद वहां जाकर बसना होता है और बहुत कम ही विश्वविद्यालयों में पढ़ने जाते हैं।

रिपोर्ट में बताया गया है कि पाकिस्तान में तो हालात और खराब हैं। सितंबर में गृह विभाग ने बताया कि पाकिस्तान से 66 हजार वीजा आवेदनों में से मात्र 29 मामलों में ही पिछले साल साक्षात्कार लिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फर्जी आधार पर ब्रिटेन में घुस रहे हैं भारतीय: रिपोर्ट