class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंबई की तर्ज पर लंदन पर हो सकता है हमला !

मुंबई की तर्ज पर लंदन पर हो सकता है हमला !

ब्रिटश पुलिस 'स्कॉटलैंड यार्ड' ने चेतावनी दी है कि देश में छिपे आतंकवादी मुंबई पर हुए हमले की शैली में राजधानी लंदन के व्यापारिक केंद्रों पर हमला करने की साजिश रच रहे हैं।

स्कॉटलैंड यार्ड की खुफिया शाखा के एक विरष्ठ अधिकारी ने 12 दिन पहले औद्योगिक समूहों, व्यापारियों और स्थानीय सरकार के प्रतिनिधयों के साथ सुरक्षा बैठक में चेतावनी दी थी कि आतंकवादी मुंबई पर हुए हमलों की शैली में लंदन को निशाना बना सकते हैं। पुलिस द्वारा जारी अब तक की सबसे स्पष्ट चेतावनी में कहा गया है कि आतंकवादियों के सेल नए साल के आरंभिक दिनों में हमले की योजना बना रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया कि उन्हें इस संबंध में लगातार खुफिया सूचनाएं मिल रही हैं। एक अधिकारी ने कहा कि इससे पहले यह आशंका थी कि आतंकवादी लंदन पर हमला कर सकते हैं लेकिन अब यह निश्चित रूप से लगने लगा है कि आतंकवादी लंदन पर सशस्त्र हमला करने की साजिश रच रहे हैं।

गौरतलब है कि 26 नवंबर, 2008 को समुद्री मार्ग से आए दस आतंकवादियों ने मुंबई के ताज और ट्राइडेंट होटलों तथा यहूदी केंद्र नरीमन हाउस पर कमांडो शैली में हमला कर दिया था, जिसमें 174 लोग मारे गए और तीन सौ से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।
 
वहीं ब्रिटिश सेना और खुफिया सेवा के अधिकारियों ने भी केंट में एक अभ्यास किया था। इस अभ्यास का उद्देश्य यह पता लगाना था कि क्या वे कमांडो शैली में हुए आतंकवादी हमले को असफल कर सकते हैं या नहीं। एक सैन्य सूत्र ने कहा कि इससे हमें पता चला कि अभ्यास में हिस्सा ले रहे सैनिक मुंबई हमले जैसी स्थिति से निपटने में पूरी तरह से सक्षम नहीं हैं।

सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि पिछले दो सप्ताह में कुख्यात जिहादी वेबसाइटों पर हुई बातचीत से उनकी चिंताएं और बढ़ गई हैं। इन वेबसाइटो पर एक यूजर ने सलाह दी कि आतंकवादी स्वचालित हथियारों से नाइट क्लब, खेल स्थलों और यहूदी केंद्रों पर हमले अंजाम दे सकते हैं। इस वेबसाइट पर गुरिल्ला युद्ध के संबंध में मांगी गई राय पर एक यूजर ने सलाह दी कि आतंकवादियों के एक गुट को पुलिस स्टेशनों पर हमला करके उसे जला देना चाहिए।

एक अन्य व्यक्ति ने सलाह दी कि अगर मशीन गन उपलब्ध हैं लेकिन विस्फोटक तथा उसे इस्तेमाल करने का तरीका नहीं पता है तब मुंबई जैसा हमला करना सबसे अच्छा तरीका है। हमला करने से पहले यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि उस जगह पर कोई मुस्लिम या बच्चें तो नहीं हैं।

इस सुरक्षा बैठक में आतंकवादियों द्वारा हमला करने, व्यापक पैमाने पर लोगों को मारने या बंधक बनाने जैसी स्थितियों से निपटने के उपायों पर चर्चा की गई। आतंकवाद निरोधी एक समिति के अध्यक्ष प्रैटिक मर्कर ने कहा कि आतंकवादियों का हमला करने का खतरा वास्तिवक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुंबई की तर्ज पर लंदन पर हो सकता है हमला !