DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा में अब महिलाओं का सिक्का

लोकसभा में अब महिलाओं का सिक्का

क्या लोकसभा में महिला युग की शुरुआत हुई है। सोनिया के बाद मीरा और अब वरिष्ठ भाजपा नेता सुषमा स्वराज के विपक्ष के नेता बनने से पहली बार लोकसभा के तीन शीर्ष स्थानों पर महिलाएं आसीन हुई हैं। मीरा कुमार लोकसभा अध्यक्ष और इस पद पर आसीन होने वाली पहली महिला हैं जबकि सोनिया गांधी कांग्रेस संसदीय दल की नेता हैं।

गौरतलब है कि वर्तमान लोकसभा में आजादी के बाद से सबसे ज्यादा 59 महिलाएं हैं। उनमें से सबसे ज्यादा 23 महिला सांसद सत्तारूढ़ कांग्रेस की हैं। विपक्षी भाजपा की 13 सांसद हैं। तृणमूल कांग्रेस, सपा और बसपा की चार-चार महिला सांसद हैं। सोनिया पहली महिला हैं जो 1999 में विपक्ष की नेता पद पर आसीन हुईं।

मजे की बात है कि उन्होंने तब सुषमा को कर्नाटक के बेलारी लोकसभा क्षेत्र से परास्त कर लोकसभा में पहली बार कदम रखा था। एक दशक बाद अब सुषमा उसी पद पर आसीन हुई हैं। विपक्ष के नेता पद पर सुषमा के आसीन होने से विपक्षी कतारों में बेहतर समन्वय की उम्मीद हो सकती है।

राजद नेता लालू प्रसाद और सपा नेता मुलायम सिंह यादव के साथ उनकी अच्छी बनती है। संसदीय मामलों के मंत्री पवन कुमार बंसल और सुषमा ने एक ही कॉलेज से शिक्षा हासिल की है। प्रणव मुखर्जी से भी उनका रिश्ता बहुत मधुर है। सुषमा हरियाणा से आती हैं। वह दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं और केंद्रीय मंत्री की जिम्मेदारियां भी निभा चुकी हैं। अभी वह संसद में मध्य प्रदेश के विदिशा का प्रतिनिधित्व कर रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकसभा में अब महिलाओं का सिक्का