class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों के विलय की योजना पर रोक लगे : सुकोमल

बैंकिंग सेक्टर की समस्याओं का समाधान विलय नहीं हैं। सरकार को बैंकों के विलय की योजनाओं पर रोक लगानी चाहिए। ये बातें यूको बैंक इम्प्लाइज एसोसिएशन के 18वें राष्ट्रीय सम्मेलन में पूर्व सांसद सुकोमल सेन ने कहीं। तीन दिवसीय सम्मेलन के दूसरे दिन खुले सत्र में उन्होंने कहा कि देश के व्यावसायिक बैंकों की आर्थिक स्थिति काफी सुदृढ़ है। देश के आर्थिक विकास में बैकों के योगदान को नकारा नहीं जा सकता। इस मौके पर प्रदीप विश्वास ने बैंकिंग सेक्टर में वेतन वृद्धि पर प्रकाश डाला।

उन्होंने बैंकिंग सेक्टर में कर्मचारियों की कमी पर प्रकाश डालते हुए, प्रबंधन का ध्यान इस ओर आकृष्ट किया। श्री विश्वास ने काम के बढ़ते दबाव और कर्मचारियों की कमी और महंगाई के मुद्दे को गंभीरता से उठाया। साथ ही ठेके पर कर्मचारियों की नियुक्ति की भी विरोध किया और प्रबंधन से इसपर रोक लगाने की मांग की। सम्मेलन में पटना विश्वविद्यालय के प्रो. नवल किशोर चौधरी ने किसानों की स्थिति पर गंभीर चिंता व्यक्त की। इससे पहले बैंककर्मियों ने डाकबंगला चौराहा से एक जुलूस निकाला। बाजे-गाजे के साथ निकाला गया यह जुलूस सम्मेलन स्थल तक गया। इस मौके पर यूको बैंक इम्प्लाइज एसोसिएशन के महासचिव जयदेब दासगुप्ता, अशोक घोष,  दिनेश काकोती, प्रकाश राय, देव कुमार घोष, राधाकांत वाजपेयी, एम विजयन, बी प्रसाद, अजय चटर्जी समेत बड़ी संख्या में डेलीगेट मौजूद

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंकों के विलय की योजना पर रोक लगे : सुकोमल