अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूटा

पुलिस ज्यादती के खिलाफ तरवारावासियों का गुस्सा शनिवार को फूट पड़ा। गुस्साए लोग सड़क पर उतर गए तथा कई स्थानों पर आगजनी कर सड़क जाम कर दी। जदयू विधायक श्याम बहादुर सिंह अपने समर्थकों के साथ सड़क पर उतर गए। विधायक के साथ थानेदार की झड़प भी हो गई। विधायक के नेतृत्व में तरवारावासियों ने बाजार बंद करा दिया। लोगों का मानना है कि पुलिस यहां गुंडागर्दी करती है। जबकि पुलिस का कहना है कि वे अतिक्रमण हटा रहे थे।


हुआ यूं कि सुबह 9 बजे थाने के सामने वीरेन्द्र सिंह तथा बलिराम सिंह दोनों भाई चाय बेच रहे थे। थानेदार ने वहां से चाय मंगवायी। लेकिन चाय समय पर नहीं पहुंची तो जीबी नगर थाने की पुलिस बौखला गई। पुलिस ने चाय की दुकान को उजाड़ दिया तथा दोनों की पिटाई की। पुलिस द्वारा दुाकन में जमकर तोड़फोड़ करने के बाद स्थानीय विधायक भड़क गए। लोग सड़क पर उतर गए। पुलिस के खिलाफ लोगों ने जमकर नारेबाजी की। तरवारा-महाराजगंज, तरवारा- पचरूखी, तरवारा-सीवान तथा तरवारा -बसंतपुर मार्ग को जाम कर दिया। आधा दजर्न से अधिक स्थानों पर टायर जलाकर आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया। व्यवसायी अपनी-अपनी दुकानें बंद कर दिए। तरवारा बाजार में आगजनी व सड़क जाम का सिलसिला एक बजे तक चला। आगजनी व सड़क जाम के बाद हजारों की संख्या में आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव किया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस उपाधीक्षक मनोज कुमार तत्काल वहां पहुंचे तो लोग फिर आक्रोशित हो गए और उनकी मौजूदगी में भी उग्र लोगों ने फिर आगजनी कर दी। पुलिस उपाधीक्षक की पहल पर मामला धीरे-धीरे शांत हुआ। उन्होंने माना कि प्रथम दृष्टया थानेदार दोषी हैं। इसकी रिपोर्ट वरीय पदाधिकारी को दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूटा