DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दारोगा पर 5000 जुर्माना

समय पर सूचना उपलब्ध न कराने पर सूचना आयोग ने हरिद्वार के रानीपुर थाने के थानाध्यक्ष पर पांच हजार का जुर्माना लगाया है। उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की भी संस्तुति की गई है।

विभागीय अपीलीय अधिकारी को भी सचेत किया गया है कि भविष्य में सूचना मिलने पर इसका उल्लेख आदेश में दर्ज करें।  हरिद्वार के सुरेन्द्र प्रकाश मलिक ने लोक सूचना अधिकारी के तौर पर थानाध्यक्ष से तीन बिंदुओं पर सूचना मांगी थी।

उन्होंने थाने में करुणा के खिलाफ दर्ज बिजली चोरी के मामले की प्रतिलिपि, जमानतदारों का विवरण व न्यायिक हिरासत में रहने की अवधि के विषय में जानकारी मांगी थी। लोक सूचना अधिकारी की सूचना से संतुष्ट न होने व विभागीय अपीलीय अधिकारी द्वारा समय पर सूचना न देने पर अपीलकर्ता ने सूचना आयोग में अपील की।

 सुनवाई के दौरान पीआईओ ने कहा कि सूचना न देने के पीछे किसी तरह की दुर्भावना नहीं थी तथा संबंधित जानकारी कार्यालय में नहीं थी।

आयोग ने उनकी यह दलील स्वीकार नहीं की। आयोग ने थानाध्यक्ष पर पांच हजार का जुर्माना लगाया है। आयोग का कहना था कि समय रहते अपील संबंधित कार्यालय को अंतरित की जा सकती थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दारोगा पर 5000 जुर्माना