DA Image
26 मई, 2020|9:21|IST

अगली स्टोरी

गंध के साथ ही गांव में फैली दहशत

बेगराजपुर औद्योगिक क्षेत्र स्थित मैग्मा फैक्ट्री जैसे ही केमिकल रिएक्टर में ब्लास्ट हुआ आसमान में गैस का एक गोला छा गया। कुछ देर के लिए आस-पास के गांवों में अंधेरा छा गया। फैक्ट्री की बगल में बसे गांव घासीपुरा में ब्लास्ट के बाद अचानक से सन्नाटा छा गया।

गैस की गंध ने लोगों को परेशान कर दिया। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता, गांव में जहरीली गैस के रिसाव की अफवाह फैल गई। अभी तक अधिकतर गांववासी सोकर उठ भी न पाये थे कि गांव में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया।

गांव वालों ने अपनी व अपने बच्चों की जान बचाने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉलियों और भैंसा-बुग्गी में भरकर गांव से पलायन शुरू कर दिया। देखते ही देखते सारा गांव खाली हो गया और आस-पास के जंगलों से होते हुए लोगों ने दूसरे गांवों में जाकर शरण लेनी शुरू कर दी।

बताया जाता है कि फैक्ट्री स्थित हाइड्रोजन टैंक में भी जहरीली गैस का रिसाव शुरू हो गया था। रिसाव पर तो दमकलकर्मियों ने काबू पा लिया, लेकिन उसकी गंध से घबराये गांव घासीपुरा सहित आस-पास के कई गांवों के लोग दहशत में आ गए और उन्होंने भी पलायन की तैयारी शुरू कर दी।

जानकारों का मानना है कि यदि फैक्ट्री स्थित हाइड्रोजन टैंक में ब्लास्ट हो जाता, तो फैक्ट्री से चारों ओर 12 किलोमीटर की परिधि में कोई भी इनसान जिंदा न बचता। गैस की गंध से परेशान घासीपुरावासियों ने 15 मिनट में ही गांव को खाली कर दिया।

दमकलकर्मियों द्वारा रिसाव व आग पर काबू पाने के दो घंटे बाद तक गांववासी अपने घरों में आने को तैयार नहीं थे। दोपहर 12 बजे के समीप लोगों के दिमाग से गैस रिसाव की दहशत कुछ कम हुई, तो उन्होंने अपने घरों का रुख किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:गंध के साथ ही गांव में फैली दहशत