class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छापेमारी में हुयी बरामद दो करोड़ की पाइरेटिड किताबें

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा की त्रिनगर इलाके में की गई छापेमारी में करीब दो करोड़ रुपये कीमत की पाइरेटिड किताबें बरामद हुई हैं। छापेमारी पब्लिशर्स एसोसिएशन की शिकायत पर की गई। पुलिस ने इस संबंध में एक प्रिंटर को गिरफ्तार किया है। पाइरेटिड किताबों का नेटवर्क चलाने वाले मास्टर माइंड दो भाई फरार चल रहे हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है।


गिरफ्तार आरोपी सतीश के बारे में बाइंडर के जरिये पुलिस को सूचना मिली थी। शिकायत के आधार पर मामले की जांच में जुटी पुलिस ने सतीश से इस संबंध में पूछताछ की तो उसने खुलासा किया कि त्रिनगर इलाके में स्थित गोदाम में किताबें रखी हैं। पुलिस ने छापा मारा तो गोदाम से लाखों पाइरेटिड किताबें बरामद हुईं। बरामद किताबों में ज्यादातर साइंस, टेक्नोलॉजी व मेडिकल की हैं। जिन पब्लिकेशन की किताबें बरामद हुईं हैं, उनमें जॉन विली, टाटा मैक्ग्रॉहिल, पियरसन एजुकेशन, एल सेवियर साइंस ग्रुप, ऑक्सफोर्ड, ओरिएंटल लॉगमैन सरीखे इंटरनेशनल पब्लिकेशन शामिल हैं।


इसके अलावा जिन भारतीय पब्लिकेशन की किताबें मिली हैं,उनमें उपकार, अरिहंत, गीता, सुंदर व सरस्वती सहित कुछ अन्य शामिल हैं।  पुलिस के मुताबिक सतीश प्रिंटिंग का काम करता है। पब्लिशर्स एसोसिएशन द्वारा दी गई शिकायत की जांच के दौरान पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक पाइरेटिड किताबों के नेटवर्क को चलाते नीरज व शर्मा नाम के दो भाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छापेमारी में हुयी बरामद दो करोड़ की पाइरेटिड किताबें