अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेहमानों को पौधे भेंट करेंगे निशंक

चिपको की धरती से पर्यावरण को बचाने के लिए एक नयी इबारत लिखी जाएगी। मुख्यमंत्री डा. निशंक ने स्पर्श गंगा अभियान के बाद पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अनूठी पहल शुरू की है।

मुख्यमंत्री एक पौधे के जरिए अपने विशेष अभियान को प्रदेश की सरहद के बाहर भी ले जाएंगे। इस बाबत मुख्यमंत्री ने प्रोटोकाल विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश दिए है। दिल्ली स्थित उत्तराखंड निवास के अधिकारियों को भी मुख्यमंत्री की इच्छा से अवगत करा दिया गया है।

मुख्यमंत्री प्रदेश में आने वाले वीवीआईपी मेहमानों का स्वागत अब विशेष अंदाज में करेंगे। ऐसे खास मौकों पर अतिथि को एक विशेष पौधा भेंट किया जाएगा।

प्रदेश में आने वाले मेहमानों के अलावा मुख्यमंत्री दिल्ली या अन्य राज्यों के दौरे के दौरान भी पौधे भेंट करने का सिलसिला जारी रहेगा। भेंट किए जाने वाले पौधे हरित-समृद्ध प्रदेश व पर्यावरण संरक्षण के प्रति संवेदनशीलता को प्रदर्शित करते हुए सदेश अंकित होंगे।

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केन्द्रीय मंत्री, वरिष्ठ केन्द्रीय अधिकारी समेत अन्य प्रदेशों के दिग्गजों को मुख्यमंत्री प्रदेश की पहचान से जुड़े विभिन्न प्रजाति के पौधे भेंट करेंगे। मुख्यमंत्री पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रदेश सरकार की पहल की भी जानकारी देंगे।

सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री के दिल्ली आगमन के दौरान पौधों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने बीते दिनों सम्पन्न हुए आईएएस वीक के दौरान भी सभी अधिकारियों को पौधे भेंट किए थे। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों से पौध रोपण की भी अपील की थी। 

मुख्यमंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक का कहना है कि हिमालय का पूरे देश के पर्यावरण से सीधा संबंध है। हिमालय सुरक्षित रहेगा तो देश भी सुरक्षित रहेगा। लिहाजा उत्तराखंड से समूचे देश को पर्यावरण जागरूकता का संदेश जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेहमानों को पौधे भेंट करेंगे निशंक