DA Image
29 मई, 2020|4:08|IST

अगली स्टोरी

नक्सली हिंसा में सीआरपीएफ का जवान मरा

झारखंड विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के दौरान शुक्रवार को सारंडा में नक्सलियों ने लैंडमाइंस विस्फोट कर सीआरपीएफ के जवान को मौत के घाट उतार दिया।

मृतक जवान रंजीत कुमार गोरखपुर (उत्तरप्रदेश) का रहने वाला था और सीआरपीएफ के एफ 85 वीं बटालियन का था। विस्फोट में जवान के कमर के नीचे का पूरा हिस्सा उड़ गया। घटना जगन्नाथपुर विधानसभा क्षेत्र अन्तर्गत छोटानागरा थाना क्षेत्र सेडेल-मनोहरपुर रोड में दिन के दो बजे घटी।

सीआरपीएफ के जवान तेतलीघाट गांव के बूथ से इवीएम के साथ मतदान कर्मियों को लेकर पैदल लौट रहे थे। इसी दरम्यान सेडेल-मनोहरपुर पथ में एक लैंडमाइंस का नक्सलियों ने विस्फोट कराया। विस्फोट के बाद नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी।

जवाब में सीआरपीएफ जवानों ने भी नक्सलियों की ओर दो ग्रेनेड फेंके और जमीन पर लेटकर फायरिंग शुरु कर दी। दिन के दो बजे से दोनों तरफ से चलने वाली फायरिंग 2.20 बजे थोड़ी देर के लिए रूकी। फिर 2.30 बजे से शुरु हुई जो 2.45 तक चली।

इसके बाद फायरिंग बंद हो गयी और नक्सली जंगल में गुम हो गये। घटना की सूचना मिलते ही छोटानागरा थाना से अतिरिक्त बल घटना स्थल पहुंची और वहां घिरे सीआरपीएफ के जवानों एवं मतदान कर्मियों को लेकर छोटानागरा पहुंचे।

मृतक जवान का शव हेलीकॉप्टर से चाईबासा लाया गया, जहां सदर अस्पताल में पोस्ट मार्टम कराने के बाद पुलिस लाईन में सलामी दी गयी। मृतक जवान के शव को उसके पैतृक गांव गोरखपुर के लिए स्कॉर्ट पार्टी के साथ रवाना कर दिया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:नक्सली हिंसा में सीआरपीएफ का जवान मरा