अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

बच्चों को पढ़ाना अब आसान काम नहीं रहा। वजह कई हैं। समय पर फी जमा की या नहीं? समय पर बच्चों को स्कूल भेजा या नहीं। भूलवश समय पर फी नहीं जमा की तो फाीहत झेलने के लिए तैयार रहें। बच्चे के साथ मां-बाप भी स्कूल प्रबंधन के निशाने पर होंगे। अब तो फी एडवान्स में ली जाती हैं। इसमें फेल हुए तो बच्चे को परीक्षा हॉल के साथ-साथ स्कूल से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है। कुछ स्कूलों में एसी शिकायतें गाहे-बगाहे सुनने को मिलती हैं। स्कूल प्रबंधन की एसी ही प्रवृतियों पर लगाम लगाने के लिए झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण का फैसला कारगर साबित होगा। किसी कारणवश समय पर फी नहीं देनेवाले बच्चे कम से कम परीक्षा से तो वंचित नहीं रहेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो टूक