class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गैस विवाद: आरआईएल की दलीलों का विरोध किया आरएनआरएल ने

गैस विवाद: आरआईएल की दलीलों का विरोध किया आरएनआरएल ने

अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली कंपनी आरएनआरएल ने गुरुवार को उच्चतम न्यायालय में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की केजी बेसिन परियोजना की गैस की आपूर्ति और उसकी कीमत के संबंध में उसकी ओर से पेश दलील को मुकेश अंबानी समूह ने गलत आधार पर काटने की कोशिश की है।

आरएनआरएल ने आरोप लगाया कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, एनटीपीसी और मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली कंपनी के बीच 12 मई 2005 को मसौदा समक्षौते के आधार पर उसकी दलीलों को काट रही है जबकि हमारी बहस के हिस्से में इस मसौदे की बात शामिल ही नहीं की गयी थी।

मुख्य न्यायाधीश केजी बालकष्णन की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष आरएनआरएल के वकील मुकूल रोहतगी ने कहा कि मैंने 12 मई के समक्षौते को लेकर कोई बात नहीं कही। मैंने किसी मसौदे का जिक्र नहीं किया। मैं केवल एनटीपीसी मुददे पर अपनी दलीलें रखना चाहता हूं।

अनिल समूह की आरआईएल की ओर से बुधवार को दी गयी इस दलील का विरोध कर रही है कि एनटीपीसी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच 12 मई 2005 के समक्षौते में जिस दर का उल्लेख है वह तभी मान्य होगी जबकि सरकार उसे मंजूरी दे।

रोहतगी ने आगे कहा कि आरआईएल के वकील हरीश साल्वे ने 12 मई 2005 के एनटीपीसी के गैस आपूर्ति खरीद समक्षौते का उल्लेख किया, वह भ्रम पैदा करने वाला है, क्योंकि उस समय तीन या चार मसौदे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गैस विवाद: आरआईएल की दलीलों का विरोध किया आरएनआरएल ने