DA Image
25 फरवरी, 2020|11:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय मूल के छात्र को 48 साल की कैद

आस्ट्रेलिया की एक अदालत ने भारतीय मूल के सिंगापुर के एक छात्र राम तिवारी को अपने दो साथियों की हत्या के जुर्म में अधिकतम 48 साल की कैद की सजा सुनाई है। न्यूज एशिया चैनल की एक रिपोर्ट के मुताबिक राम को उसके कमरे में रह रहे टे चौ ल्यांग और टानी टान पोह चुआन की हत्या का दोषी पाया गया। 

राम को ल्यांग की हत्या के मामले में 25 और टोनी की हत्या के मामले में 30 साल के कारावास की सजा मिली है। वह काफी समय जेल में है, ऐसे में उसकी पहले कारावास की सजा की अविध 2012 में खत्म होगी और इसके बाद उसे अगले 30 वर्षों तक यानी 2042 तक जेल की सलाखों के पीछे रहना पड सकता है। अभियोजन के अनुसार राम ने सितंबर 2003 में अपने दोनों साथियों की बेसबाल के बैट से पीट पीटकर हत्या कर दी थी। इसी बीच एक अपीलीय अदालत ने मामले की पुनर्सुनवाई का आदेश दिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:भारतीय मूल के छात्र को 48 साल की कैद