अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दलित एकता मार्च को जद यू ने परिवार प्रभुत्व मार्च बताया

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने लोक जन शक्ति पार्टी (लोजपा) का गुरुवार को एकता मार्च को पूरी तरह से विफल करार देते हुए इसे परिवार प्रभुत्व मार्च बताया। 


पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री श्याम रजक तथा राजीव रंजन प्रसाद ने लोजपा अध्यक्ष राम विलास पासवान को दलित विरोधी बताते हुए कहा कि वह (पासवान) कई वर्षों तक केन्द्र में मंत्री रहे लेकिन दलितों के कल्याण के लिए कोई उल्लेखनीय कार्य नहीं किए। उन्होंने कहा कि दलित एकता मार्च में दलितों की संख्या कम और बाहुबली विधायकों का प्रभाव स्पष्ट दिख रहा था। जद यू नेताओं ने रैली की पूर्व संध्या पर लोजपा के बाहुबली विधायकों के आवास पर अश्लील नृत्य के आयोजन की भर्त्सना करते हुए इसे दलित संस्कृति के प्रतिकूल बताया। उन्होंने कहा कि दरअसल राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा महादलित समुदाय के लिए चलाए जा रहे कई कल्याणकारी योजनाओं से उनके जीवन स्तर में आए गुणात्मक बदलाव के कारण पासवान अकेले पडते जा रहे हैं और अब उनकी स्थिति जनाधार विहीन नेताओं की तरह हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दलित एकता मार्च परिवार प्रभुत्व मार्च: जद यू