DA Image
29 मई, 2020|9:57|IST

अगली स्टोरी

चिरंजीवी का विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा, विरोध जारी

चिरंजीवी का विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा, विरोध जारी

अखण्ड आंध्र प्रदेश के समर्थन में जारी विरोध प्रदर्शनों को उस वक्त एक नई ताकत मिली जब प्रजा राज्यम पार्टी के प्रमुख चिरंजीवी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने का ऐलान किया। हालांकि, तटीय आंध्र और रायलसीमा क्षेत्र में कई नेताओं की ओर से किया जा रहा आमरण अनशन गुरुवार को भी जारी रहा।

प्रजा राज्यम पार्टी के मुख्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में चिरंजीवी ने कहा कि बहुमत की राय को देखते हुए प्रजा राज्यम अखण्ड आंध्र प्रदेश का समर्थन करेगी। हम सत्तासीन लोगों पर राज्य को एकीकत रखने का दबाव बनाएंगे।

चिरंजीवी ने कहा कि उनकी पार्टी ने तेलंगाना के समर्थन में पिछले वर्ष के अगस्त महीने में अपने गठन के वक्त ही फैसला किया था क्योंकि अलग तेलंगाना राज्य के समर्थन में एक मजबूत स्थिति थी। चिरंजीवी के निर्णय का स्वागत करते हुए विजयवाड़ा में आमरण अनशन कर रहे कांग्रेस सांसद एल राजगोपाल ने कहा कि दिवंगत एन टी रामाराव के पोते और मशहूर फिल्म अभिनेता जूनियर एनटीआर को अखण्ड आंध्र प्रदेश के समर्थन में आगे आना चाहिए।

दूसरी ओर, तेदेपा विधायक डी उमामहेश्वर राव और पार्टी के कई अन्य नेताओं की ओर से की जा रही भूख हड़ताल गुरुवार को पांचवें दिन में प्रवेश कर गयी।

भूख हड़ताल कर रहे तेदेपा नेताओं ने पुलिस द्वारा उन्हें अस्पताल में भर्ती कराए जाने के कदम का विरोध किया और खुद को एक सरकारी गेस्ट हाउस में बंद कर लिया। हालांकि पुलिस ने अनशन कर रहे तेदेपा के कुछ और नेताओं की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया।

इस बीच, श्रीकष्ण देवराय विश्वविद्यालय में हालात आज भी तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में रहे पुलिस ने कैंपस में सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम कर रखे हैं। गौरतलब है कि पुलिस ने कुछ दिनों पहले वहां छात्रों पर लाठीचार्ज किया था जिससे यहां के हालात बिगड़ गए थे। अनंतपुर के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यदि छात्र शांतिपूर्ण प्रदर्शन करते हैं तो हमें कोई आपत्ति नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:चिरंजीवी का विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा, विरोध जारी