DA Image
27 फरवरी, 2020|10:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब अलग बुंदेलखंड के लिए रक्त हस्ताक्षर अभियान

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में फैले बुंदेलखंड क्षेत्र को अलग राज्य बनाने की मांग को लेकर बुंदेलखंड एकीकृत पार्टी (बीईपी) ने बांदा जिले से रक्त हस्ताक्षर अभियान शुरू किया है। केंद्र और राज्य सरकार पर दबाव बनाने के लिए वहां के दूसरे संगठनों ने भी प्रदशर्न तेज कर दिए हैं।

बीईपी के महासिचव सुरेंद्र तिवारी ने गुरुवार को बांदा में संवाददाताओं को बताया कि बीईपी पहले इस रक्त हस्ताक्षर अभियान को आपस में चलाएगी। बाद में बड़े पैमाने पर इसे बुंदेलखण्ड की जनता के बीच शुरू किया जाएगा।

तिवारी ने कहा कि औपचारिक तौर पर रक्त से हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत आज (गुरुवार को) बांदा से की गई है। उन्होंने कहा कि बीईपी अपने इस अभियान से केंद्र और राज्य सरकार का ध्यान बुंदेलखण्ड को अलग राज्य बनाने की अपनी मांग की तरफ खींचना चाहती है, जिस पर पिछले कई सालों से दोनों सरकारों ने गंभीरता नहीं दिखाई है।

तिवारी ने जोर देते हुए कहा कि बुंदेलखण्ड को पृथक राज्य बनाने की मांग को दबाया नहीं जा सकता। क्योंकि यह सीधे वहां के विकास से जुड़ी है। बिना अलग राज्य बनाए बुंदेलखण्ड का विकास संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि बीईपी रक्त हस्ताक्षर अभियान तब तक जारी रखेगी जब तक कि राज्य सरकार विधानसभा में बुंदेलखण्ड को अलग राज्य बनाने का प्रस्ताव लाने का भरोसा नहीं दिलाती।

पार्टी के पदाधिकारियों के मुताबिक बांदा से शुरू किया गया यह रक्त हस्ताक्षर अभियान बुंदेलखण्ड के दूसरे जिलों चित्रकूट, हमीरपुर, झांसी, ललितपुर, जालौन और महोबा में ले जाया जाएगा।

उधर बीईपी की तरफ से आज महोबा बंद का ऐलान भी किया गया है। मंगलवार को यहां अलग राज्य की मांग को लेकर कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ कर रेलमार्ग और प्रमुख सड़क मार्ग जाम कर दिए थे।

वहीं दूसरी तरफ बुंदेलखण्ड मुक्ति मोर्चा (बीएमएम) ने बुंदेलखण्ड को पृथक राज्य बनाने की मांग को लेकर चित्रकूट से खजुराहो की अपनी पदयात्राा शुरू कर दी है। 300 किलोमीटर की इस पदयात्राा को बुधवार को बीएमएम के संयोजक राजा बुंदेला ने चित्रकूट के कामतानाथ मंदिर से शुरू किया। पदयात्राा एक जनवरी को खजुराहो में जाकर समाप्त होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:अब अलग बुंदेलखंड के लिए रक्त हस्ताक्षर अभियान