अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिल्वर स्क्रीन पर 1200 करोड़ रु. का अवतार

सिल्वर स्क्रीन पर 1200 करोड़ रु. का अवतार

आज का दिन न केवल हॉलीवुड, बल्कि बॉलीवुड के लिए भी ऐतिहासिक साबित हो सकता है। आज सिल्वर स्क्रीन पर हॉलीवुड से आयी फिल्म ‘अवतार’ हिंदी और अंग्रेजी के अलावा तीन अन्य भाषाओं में भी रिलीज हो रही है। ‘टाइटैनिक’ की ऐतिहासिक सफलता के 12 साल बाद निर्माता-निर्देशक जेम्स कैमरून ‘अवतार’ को 3डी इफेक्ट के साथ लेकर आये हैं, जिसे बनाने में करीब 14 साल का समय लगा। यानी जब वह ‘टाइटैनिक’ का निर्माण कर रहे थे, ‘अवतार’ उनके जेहन में तभी से थी। 1200 करोड़ रु. में यह फिल्म विश्व में अब तक की सबसे महंगी फिल्म है, जिसकी कीमत स्क्रीन तक आते-आते करीब 2000 करोड़ रु. पहुंच गयी है। इसके अलावा फिल्म में 3डी इफेक्ट के लिए स्पेशल कैमरा जेम्स ने अपने सहयोगियों के साथ ईजाद किया है।  हॉलीवुड के 20 सेंचुरी फॉक्स द्वारा निर्मित ‘अवतार’ में लाइव एक्शन फोटोग्राफी के साथ-साथ न्यू वचरुअल फोटोरियलिस्टिक प्रोडक्शन तकनीक का मिश्रण भी है, जिसमें जेम्स ने कुछ ऐसे किरदारों को पेश किया है, जिनका वास्तव में अस्तित्व है ही नहीं। फिल्म में कम्प्यूटर-जेनेरेटिड इमेजिनरी इफेक्ट का करिश्मा भी देखने को मिलेगा। 

‘अवतार’ के लीड रोल में सैम वर्थटिंगटन हैं, जो इससे पहले ‘टर्मिनेटर : सॉल्वेशन’ में एक सायबॉर्ग का किरदार निभा चुके हैं। उनके अलावा जो साल्दाना, सीक्योर्नी वीवर, स्टीफन लैंग, माइकल रॉड्रिग्ज, जिओवानी रिबिसी आदि भी हैं। एक महत्त्वपूर्ण भूमिका में अभिनेता दिलीप राव भी हैं, जो फिल्म में डॉ. मैक्स का किरदार निभा रहे हैं। इस फिल्म को लॉस एंजेल्स और न्यूजीलैंड में फिल्माया गया है। फिल्म की कहानी साइंस-फिक्शन फंतासी को बयां करते हुए वर्ष 2154 पर केन्द्रित है। मुख्य किरदार जेक सुल्ली (सैम वर्थटिंगटन) जो कि एक पूर्व यूएस मैरीन है, को एक विशेष अभियान के तहत एक काल्पनिक ग्रह पंडोरा भेजा जाता है। इसके लिए जेक को एक खास प्रोग्राम ‘अवतार’ से लैस किया जाता है। पंडोरा पहुंचने के बाद जेक की जद्दोजहद वहां के लोगों के साथ मेल-मिलाप से शुरू होती है, पर जल्द ही वह उनके खास मिशन का हिस्सा बन जाता है।

‘अवतार’ के साथ हिन्दी की दो फिल्में भी रिलीज हो रही हैं। इसमें ग्रेसी सिंह की ‘असीमा’ और निर्माता, निर्देशक एवं अभिनेता रवि कपूर की फिल्म ‘वर्ल्ड कप 2011’ शामिल हैं, जिन्हें दिल्ली में काफी कम स्क्रीन्स मिले हैं। दिल्ली-एनसीआर में ‘असीमा’ को 2-3 तथा ‘वर्ल्ड कप 2011’ को केवल 4 सिनेमा हॉल ही रिलीज के लिए मिले हैं। ‘असीमा’ उड़िया उपन्यासकार शैलजा कुमारी अपराजिता मोहंती के फेमस उपन्यास ‘असीमा’ पर आधारित है। फिल्म के निर्देशक हैं शिशिर पी. मिश्र। फिल्म की कहानी एक महिला के जीवन के संघर्ष को दर्शाने के साथ-साथ उसके रिश्तों और लक्ष्य प्राप्ति को दर्शाती है।

अभिनेत्री ग्रेसी सिंह का कहना है कि यह उनके अब तक के सबसे बोल्ड किरदारों में से एक है। इसके अलावा ‘वर्ल्ड कप 2011’ क्रिकेट पर आधारित फिल्म है, जिसमें मैच फिक्सिंग जैसे मुद्दे को उठाया गया है। साथ ही क्रिकेट और अंडरवर्ल्ड की कहानी भी इसमें शामिल है।  अभिनेता रवि कपूर के अनुसार यह फिल्म क्रिकेट के कई राजों से परदा हटाने वाली साबित होगी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिल्वर स्क्रीन पर 1200 करोड़ रु. का अवतार