class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

समस्तीपुर में नप कर्मियों पर पुलिस ने बरसी लाठियां

नगर परिषद कर्मचारियों की हड़ताल ने विकराल रूप धारण कर लिया है। मंगलवार रात वार्ड पार्षदों की पिटाई के मामले में कर्मचारी संघ के सचिव भूपेंद्र चौधरी की गिरफ्तारी पर बुधवार को कर्मचारी भड़क गए। कर्मियों ने समस्तीपुर-पटना मार्ग स्थित मगरदही घाट पुल के पास जाम लगा दिया। तीन घंटे तक जब प्रदर्शनकारी शांत नहीं हुए और पूरा शहर जाम से परेशान हो गया तो पुलिस ने बल कर प्रयोग किया। पुलिस ने नप कर्मियों पर लाठियां बरसाईं और खदेड़-खदेड़ कर पीटा। इस दौरान पुलिस पर भी कर्मियों ने लाठी-डंडे बरसा दिए। पुलिस के लिए महिला प्रदर्शनकारी भारी पड़ गईं। लाठीचार्ज और भगदड़ में करीब आधा दजर्न लोग चोटिल हो गए तथा कई को गिरफ्तार किया गया। करीब चार घंटे बाद जाम खत्म कराया गया। इस दौरान समस्तीपुर- पटना मार्ग पर दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग रही।


गौरतलब है कि मंगलवार की रात शहर के स्टेशन चौक के पास कचरा सफाई करा रहे पार्षद मनोज जायसवाल एवं अरुण प्रकाश के साथ नप कर्मियों ने मारपीट की थी । इस मामले में दर्ज एफआईआर के आधार पर पुलिस ने कर्मचारी संघ के भूपेंद्र चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी की बात सुबह तक फैल गई। कर्मियों ने भूपेंद्र सिंह की रिहाई की मांग को लेकर करबी 11 बजे सड़क जाम कर दिया। देखते-देखते पूरा शहर जाम से कराह उठा। चारों ओर वाहन ही वाहन। वैकल्पिक मार्ग भी जाम हो गए।


कर्मचारियों का नेतृत्व डा. विंदेश्वर राम कर रहे थे। उधर, सदर डीएसपी राजीव रंजन के नेतृत्व में पुलिस बल ने जाम हटाने का असफल प्रयास किया, लेकिन प्रदर्शनकारी खासकर महिलाएं अपनी मांग पर अड़ी हुई थीं। आखिरकार पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। जिसके बाद आंदोनकारी तितर-बितर हुए। पुलिस ने महिलाओं समेत कई आंदोलनकारियों को गिरफ्तार किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:समस्तीपुर में नप कर्मियों पर पुलिस ने बरसी लाठियां