class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस का किसान प्रेम नौटंकी, बसपा से मिलीभगत: सपा

समाजवादी पार्टी ने आरोप लगाया है कि केन्द्र और राज्य सरकार की किसान विरोधी नीतियों के चलते यूपी का गन्ना किसान बर्बाद है। किसान किसान संसद से लेकर सड़कों पर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान आत्महत्या तक कर रहे हैं। किसानों को मुश्किल में डालने वाली कांग्रेस उनकी समस्या का कोई समाधान करने की बजाए कांग्रेस किसानों के जले पर नमक छिड़कने के लिए धरना-प्रदर्शन की झूठी नौटंकी कर रही है। इससे पहले कभी कांग्रेस ने किसानों को तवज्जो तक नहीं दी। कांग्रेस का किसान प्रेम नकली और महज मजाक है। कांग्रेस को प्रदर्शन के बजाए किसानों को 280-300 रुपए की कीमत दिलाने के लिए प्रधानमंत्री-कृषिमंत्री से कहना चहिए।  


सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी किसान विरोधी चरित्र के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने जानबूझकर खेती और किसान को बर्बादी में ढकेला है। कांग्रेस को राज्य सरकार के जनविरोधी और संविधान विरोधी आचरण पर नियन्त्रण करना चाहिए वरना बसपा सरकार से राज्य की जनता को मुक्ति दिलाने की भूमिका अदा करनी चाहिए।  ऐसा न होने की स्थिति में दोनों सरकारों की मिलीभगत ही साबित होती है। उन्होंने कहा कि केद्र की कांग्रेस सरकार और प्रदेश की मायावती सरकार दोनों किसान से दुश्मनों जैसा व्यवहार कर रही हैं। जबकि सपा हमेशा किसानों के साथ रही है।


उन्होंने कहा कि पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव लोकसभा में माँग उठा चुके हैं कि किसानों को 280 से 300 रुपए तक मूल्य दिया जाए। लेकिन केन्द्र और राज्य सरकारें एक दूसरे के पाले में गेंद डालकर किसानों के साथ मजाक करती रही हैं। किसानों को पिछला बकाया भी नहीं मिल रहा और इस बार उचित मूल्य नहीं। गन्ने के खेत के जल्दी खाली नहीं होने की स्थिति में गेहूँ की बुआई भी पिछड़ गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस का किसान प्रेम नौटंकी, बसपा से मिलीभगत: सपा