अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाथियों को मौत से बचाने का नया फार्मूला

राजाजी पार्क में कभी रेल गाड़ियों से टकराकर तो कभी भीमकाय ट्रकों की टक्कर से हाथियों की मौत की खबरें अक्सर आती रहती है। हाथियों की जान बचाने के लिए गाजियाबाद में तैनात एक सिंचाई अफसर ने नायाब पहल की थी, जो पूरी होती दिखाई दे रही है। हाथियों की सलामती के लिए अब राजाजी पार्क के बीच से गुजर रहे एनएच-58 को एलिवेटिड किया जाना है। ऐसा होते ही हादसों पर खुद ही रोक लग जाएगी।


दरअसल, सिंचाई अफसर अजयपाल सिंह ने जंगली हाथियों को हादसों से बचाने को राजाजी पार्क में ऐसा फ्लाईओवर बनाने का ऐसा प्रोजेक्ट तैयार किया था, जिसके ऊपर से सिर्फ हाथी गुजरते। इससे वह हरिद्वार-देहरादून रेलवे लाईन से गुजरने वाली ट्रेनों और एनएच-58 से आने-जाने वाले भारी वाहनों की चपेट में आने से बच जाते। इस प्रोजेक्ट पर सुप्रीम कोर्ट की सेंट्रल इम्पावर्ड कमेटी ने विचार किया और आंशिक परिवर्तन के साथ योजना को मंजूरी दे दी। अजयपाल सिंह ने बताया कि राजाजी पार्क से गुजरने वाले एनएच-58 हाईवे को अब 750 मीटर दूरी तक ऐलिवेटिड किया जाएगा, ताकि हाथी उसके नीचे से आराम से गुजर जाए और ट्रैफिक भी बाधित ना हो। इसी तरह से आगे रेलवे लाइन को भी ऐलिवेटिड या भूमिगत करने का प्रस्ताव विचाराधीन है। अजयपाल के जंगली हाथियों पर किए कार्य को इंटरनेशनल एलीफेंट फाउंडेशन ने सराहा है और साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया में 25 से 29 जनवरी 2010 तक होने वाली इंटरनेशनल एलीफेंट रिसर्च सिम्पोजियम में भागीदारी का बुलावा भेजा है।

-दुनिया में कुल हाथी-
एशिया मूल-50 हजार।
अफ्रीकी मूल-5.5 लाख।
भारत में हाथी-35 हजार।
क्षेत्र-तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, यूपी,
उत्तराखंड, बिहार, उड़ीसा, वेस्ट बंगाल,
असम, मेघायल, अरुणाचल प्रदेश।
राजाजी नेशनल पार्क में हाथी-500।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हाथियों को मौत से बचाने का नया फार्मूला