DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसी में देहव्यापार के मामले में दो लोगों को उम्रकैद

वाराणसी के अपर सत्र न्यायाधीश (पंचम) तेज प्रताप तिवारी की अदालत ने बांग्लादेशी युवती को बंधक बनाकर जबरन वेश्यावृत्ति कराने के जुर्म में दो लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई है । दोनों आरोपियों पर दस—दस हजार रूपये का जुर्माना भी लगाया गया है।
     

अदालती सूत्रों ने बताया कि अपर सत्र न्यायाधीश (पंचम) की अदालत ने बांग्लादेशी युवती को बंधक बनाकर कर देह व्यापार कराने के मामले में सोमारू पटेल और सोहनलाल को उम्रकैद की सजा और दस—दस हजार रूपये जुर्माने की सजा से दंडित किया है।
     

मंडुआडीह थाना क्षेत्र के शिवदासपुर मोहल्ले में मुखबिर की सूचना पर 24 अगस्त 2005 को भेलूपुर क्षेत्राधिकारी ने दबिश देकर बांग्लादेश निवासी रेशमा बीबी उर्फ कुसुमा को मुक्त कराया था। पीड़िता ने अपने बयान में अदालत को बताया कि वह अपने बांग्लादेश स्थित घर से ससुराल जा रही थी। वहां बहकाकर कुछ लोग उसे बिहार के सीवान जिले में ले गये। वहां से मारपीट कर वाराणसी लाकर उसे सोमारू के घर रखा गया । सोमारू और उसका साथी सोहनलाल दोनों ग्राहक लाते थे और मारपीट कर जबरन उससे वेश्यावृत्ति कराते थे।
    

मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने शिवदासपुर में दबिश देकर रेशना बीबी उर्फ कुसुमा को दोनों के चंगुल से मुक्त कराया। मामले की सुनवाई करते हुए अपर सत्र न्यायाधीश (पंचम) तेज प्रताप तिवारी की अदालत ने किसी विदेशी महिला को जबरन वेश्यावृत्ति कराने के जुर्म में सोमारू पटेल और सोहनलाल को दोषी पाते हुए उम्रकैद तथा दस—दस हजार रूपये की जुर्माने की सजा से दंडित किया ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वाराणसी में देहव्यापार के मामले में दो लोगों को उम्रकैद